इंडियन रेलवे जल्द प्राइवेट कंपनियों को अपने प्राइवेट टर्मिनल्स से मालगाड़ी चलाने की इजाजत दे सकता है। इससे देश के रेलवे नेटवर्क पर भारतीय रेल की मोनोपॉली खत्म हो सकती है। सीमेंट, स्टील, ऑटो, लॉजिस्टिक्स, अनाज, केमिकल्स और फर्टिलाइजर्स सेक्टर की कंपनियों ने रेलवे की स्पेशल फ्रेट ट्रेन ऑपरेशंस स्कीम के तहत अपनी फ्लीट चलाने में दिलचस्पी दिखाई है। इसकी जानकारी एक वरिष्ठ रेलवे अधिकारी ने दी है। अगर यह स्कीम सफल रहती है तो आगे चलकर प्राइवेट पैसेंजर ट्रेन चलाने की जमीन भी तैयार हो सकती है। टाटा स्टील, अडानी एग्रो, कृभको और कई अन्य प्राइवेट कंपनियों के पास पहले