पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की मां राजमाता मोहिंदर कौर का अंतिम संस्कार किया गया. उनको पटियाला के शाही समाधां में मुखाग्नि दी गई. राजमाता मोहिंदर कौर का सोमवार शाम को लंबी बीमारी के बाद 95 साल की उम्र में निधन हो गया था। आपको बता दें कि मार्च में ब्लड प्रेशर और सांस नली में तकलीफ के चलते कोलंबिया एशिया में भर्ती कराया गया था, फिर वहां से उन्हें पीजीआई शिफ्ट किया गया था. कुछ दिन बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था. सोमवार शाम करीब साढ़े सात बजे उन्होंने पटियाला के मोती महल में आखिरी सांस ली. माता के

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को सतलुज-यमुना संपर्क नहर (एसवाईएल) के मुद्दे के निपटारे के लिए दो महीने का समय देने के सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत किया. उन्होंने केंद्र सरकार से इस मुद्दे के शुरुआती प्रस्ताव के लिए हरियाणा के साथ वार्ता की सुविधा देने का आग्रह किया. वार्ता के जरिए समस्या के हल होने की बात को दोहराते हुए अमरिंदर ने कहा कि पंजाब इससे किसी को वंचित नहीं करना चाहता है. राज्य में पानी की गंभीर कमी ने हमें इस महत्वपूर्ण संसाधन को बांटने से रोकने पर मजबूर किया है. उन्होंने कहा कि राज्य भूजल के

चंडीगढ़ में आढ़ती एसोसिएशन के सदस्यों ने दूसरे दिन भी मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकत की.इससे पहले कल भी आढ़तियों ने सीएम से मुलाकात की थी. मुख्यमंत्री के आवास पर हुई इस मुलाकात में किसानों की कर्ज माफी को लेकर चर्चा हुई. आढ़तियों ने मुख्यमंत्री से किसानों को कर्ज से उबारने की अपील की. इसके अलावा आढ़तियों ने धान की फसल के उठान के लिए ट्रांस्पोर्टेशन का इंतजाम करने में मदद की अपील भी की.  

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आज दिल्ली आएंगे. जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते हैं, और इस दौरान पंजाब मंत्रीमंडल में विस्तार पर चर्चा हो सकती है.

पंजाब में किसानों की कर्जमाफी को लेकर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विरोधियों को जवाब देते हुए साफ कर दिया है कि किसानों का कर्ज जरूर माफ किया जाएगा. उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों की कर्जमाफी की समस्या को सुलझाने के लिए कमेटी का गठन किया है जो जल्द ही अपनी रिपोर्ट देगी. उधर पंजाब के किसानों को कर्ज माफी के लिए अभी कुछ ओर इंतजार करना पड़ सकता है, दरअसल कर्ज माफी के लिए बनाई गई डॉ टी हक वाली कमेटी को किसानों के कर्ज संबंधी आंकड़े जुटाने में वक्त लग रहा है जिसके चलते रिपोर्ट सौंपने में देरी

चंडीगढ़ में पीएचडी चैंबर में सेशन विद कैप्टन कार्यक्रम के दौरान पंजाब सीएम ने उद्योगपतियों से मुलाकात की और उनकी समस्याएं सुनी. इस दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश में उद्योग के लिए काम जारी है. सरकार के साथ वित्तिय समस्या है, जिसे लेकर श्वेत पत्र ला रहे हैं. कैप्टन ने कहा कि वित्तिय स्थिति का हवाला देकर हम अपने वादों से बचना नहीं चाहते हैं. उन्होंने कहा कि हम इंडस्ट्री को आगे लेकर जाएंगे. इस दौरान उन्होंने कहा कि किसानों का कर्जा घटाया जाएगा और इसके लिए हाईपावर कमेटी का गठन किया गया है.इसके अलावा कैप्टन