रक्षामंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में आश्वासन दिया है कि भारतीय सेना किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से लैस है। हाल ही में आई कैग रिपोर्ट में गोला-बारूद की कमी से जुड़े सवालों का रक्षामंत्री ने जवाब दिया, उन्होंने कहा गोला-बारूद की कमी को खत्म करने के लिए खरीद प्रक्रिया का विकेंद्रीकरण किया गया है और सेन्य प्रमुखों को इस बारे में अधिकार भी प्रदान किए गए हैं। गौरतलब है कि संसद के इसी सत्र में पेश की गई सीएजी की रिपोर्ट में कहा गया था कि सेना के पास बेहद कम मात्रा में

भारतीय रेलवे की कैटरिंग सर्विस पर सीएजी की ऑडिट रिपोर्ट शुक्रवार को संसद में रखी जानी है. रिपोर्ट में बताया गया है कि रेलवे स्टेशनों पर जो खाने-पीने की चीजें परोसी जा रही हैं, वो इंसानी इस्तेमाल के लायक ही नहीं हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रेनों और स्टेशनों पर परोसी जा रही चीजें प्रदूषित हैं. डिब्बाबंद और बोतलबंद चीजों को उनके सुरक्षित इस्तेमाल के लिए तयशुदा टाइम पीरियड के गुजर जाने के बावजूद बेचा जा रहा है. इसके अलावा, अनाधिकृत ब्रैंड की पानी की बोतलें बेची जा रही हैं. जांच में यह भी पाया गया कि रेलवे परिसरों और ट्रेनों में साफ-सफाई