दिल्ली की निचली कोर्ट ने एक 5 साल की बच्ची से दुष्कर्म की आपबीती जानने के लिए अनूठा तरीका निकाला। बच्ची काे गुड़िया (बार्बी डॉल) दी गई, जिसके बाद उसने डॉल के निजी अंगों को छूकर जज को सच्चाई बताई। इस नई और अनूठी तकनीक की हाईकोर्ट ने भी प्रशंसा करते हुए निचली कोर्ट के आदेश के खिलाफ दोषी की अपील खारिज कर दी। दरअसल, राेहिणी की कोर्ट ने दोषी 23 साल के हनी को इस मामले में कारावास की सजा सुनाई थी। जज ने पूछा, आपकी गुड़िया के साथ हुआ? न्यायमूर्ति एसपी गर्ग ने आदेश में कहा कि बच्ची ने