अमेरिका के रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने दावा किया कि आईएस सरगना अबु बकर अल-बगदादी अभी भी जिंदा है. उन्होंने उन तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के दावे को खारिज किया जिनके मुताबिक, बगदादी मारा जा चुका है. रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने कहा, 'मेरा मानना है कि बगदादी जिंदा है और मैं तभी मानूंगा कि उसकी मौत हो गई है, जब हमें पता चलेगा कि हमने उसे मार दिया है.' उन्होंने आगे कहा, अमेरिकी खुफिया एजेंसियां बगदादी की तलाश में जुटी हैं. जेम्स मैटिस का मानना है कि बगदादी अब भी आतंकी संगठन आईएस में अपनी अहम भूमिका निभा रहा है. बताते चलें, रूसी सेना

बगदाद आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) ने मोसुल की प्रसिद्ध झुकी हुई मीनार और उससे जुड़ी नूरी मस्जिद को बुधवार को विस्फोट कर उड़ा दिया. यह वही मस्जिद है, जहां IS के नेता अबू बकर अल बगदादी ने साल 2014 में पहली बार लोगों के सामने आकर खुद को खलीफा बताया था. IS ने अपनी अमाक प्रोपेगेंडा एजेंसी के जरिए बयान जारी कर आरोप लगाया कि अमेरिकी स्ट्राइक से मस्जिद जमींदोज हो गई है. वहीं, अमेरिकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेना ने इस विध्वंस की निंदा करते हुए इसे मोसुल और सभी इराक के लोगों के खिलाफ अपराध करार दिया. स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल अब्दुलमीर

रूस की सेना ने आज कहा कि वह इसकी पुष्टि करने की कोशिश कर रही है कि पिछले महीने सीरिया में रात के समय उसके लड़ाकू विमानों द्वारा किए गए हमलों में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट का सरगना अबू बकर अल बगदादी मारा गया या नहीं. वहीं, अमेरिका ने कहा कि वह फिलहाल बगदादी की मौत की खबरों की पुष्टि नहीं कर सकता. रूसी सेना ने एक बयान में कहा कि सुखोई लड़ाकू विमानों ने 28 मई को रक्का के नजदीक एक ठिकाने पर 10 मिनट तक हमले किए जहां इस्लामिक स्टेट के नेता बैठक के लिए एकत्र हुए थे. बयान में