बद्रीनाथ चारधाम यात्रा के दौरान बद्रीनाथ में एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया है. उड़ान भरते समय हुई इस दुर्घटना में हेलीकॉप्टर के पंखों से कटकर इंजीनियर की मौत हो गई. गनीमत यह रही कि उसमें सवार यात्री और पायलट समेत सात लोग सुरक्षित बच गए. इन्हें मामूली चोटें आई हैं. जानकारी के मुताबिक, बद्रीनाथ धाम में टेक ऑफ करने के दौरान मुंबई की केस्टर एवियेशन कंपनी का हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया. बताया जा रहा है कि हेलीकॉप्टर में पायलट, सहपायलट, इंजीनियर के अलावा पांच यात्री सवार थे. गुजरात के यात्री बद्रीनाथ में दर्शन के बाद हरिद्वार लौट रहे थे. जैसे ही हेलीकॉप्टर ने

उत्तराखंड में भूस्खलन की वजह से बद्रीनाथ यात्रा पर गए सैकड़ों यात्री फंस गए हैं. चट्टानें किसकने के बाद बदरीनाथ यात्रा फिलहाल रोक दी गई है. इसके बाद ऋषिकेश-बदरीनाथ हाइवे को ठीक करने के लिए काम तेजी से शुरु कर दिया गया है। चमोली के जिलाधिकारी आशीष जोशी ने बताया कि सीमा सड़क संगठन के जवान मलबे को साफ करने में लगे हैं और शनिवार दोपहर तक राजमार्ग को यातायात के लिये खोल दिया जायेगा. उन्होंने बताया कि बद्रीनाथ की यात्रा पर आये श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत न हो, इसके लिये उन्हें जोशीमठ, पीपलकोटी, कर्णप्रयाग, गोविंदघाट और बद्रीनाथ में ही सुविधाजनक स्थानों