मानहानि का केस लड़ने के लिए फीस विवाद में वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी  ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आड़े हाथों लिया है. राम जेठमलानी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, 'फीस नहीं देंगे तो कोई बात नहीं, मैं हजारों लोगों के लिए फ्री में काम करता हूं.' इतना ही जेठमलानी ने ये भी कहा कि केजरीवाल झूठ बोल रहे हैं, मैंने बिना उनके कहे उनका मुकदमा नहीं लड़ा. बता दें कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दिल्ली के मुख्यमंत्री पर आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए 10 करोड़ रुपए का मानहानि का केस

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को नोटिस जारी किया है. इस याचिका में अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन (DDCA) में अनियमितता और गड़बड़ी से जुड़े रिकॉर्ड उपलब्ध कराने की बात कही थी. यहां पर बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने अरुण जेटली पर डीडीसीए में पद पर रहने के दौरान भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे और लगातार कई मंचों से कई सौ करोड़ के घोटाले के आरोप लगाते रहे थे. बिना सुबूत लगातार आरोप लगाने पर अरुण जेटली ने अरविंद केजरीवाल पर 10 करोड़ की मानहानि का केस दायर

फरवरी-मार्च में हुए गोवा-पंजाब विधानसभा चुनाव में हारने के बाद फिर दिल्ली एमसीडी चुनाव में शिकस्त खाने वाली आम आदमी पार्टी (AAP) की मुश्किलें कम होने की नाम ही नहीं ले रही हैं. दिल्ली में सत्तासीन अरविंद केजरीवाल सरकार पर विरोधी तो विरोधी अपने (कपिल मिश्रा और कुमार विश्वास) भी हमलावार हैं. इस बीच ताजा मामले में दिल्ली सरकार के ही पीडब्लयूडी विभाग ने आम आदमी पार्टी को उनके राउज एवेन्यू स्थित दफ्तर को लेकर नोटिस भेजा है. विभाग ने अपने नोटिस में AAP को 27 लाख रुपये का किराया चुकाने को कहा है इसके अलावा पार्टी को दफ्तर खाली करने

दिल्ली दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी सरकार के बर्खास्त मंत्री कपिल मिश्रा को 'वाई' श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई है. हाल ही में मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं. जिसके बाद विधानसभा में कुछ AAP नेताओं ने मिश्रा की पिटाई भी कर दी थी. वहीं, एक व्यक्ति ने खुद को आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता बताकर उनके घर पर हंगामा किया था और उनपर हमले का प्रयास भी किया था. सूत्रों ने बताया कि दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने मिश्रा को खतरे का आकलन किया और यह फैसला किया गया कि उनकी सुरक्षा बढ़ाए जाने की

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल आज पंजाब जा रहे हैं। केजरीवाल अपने एक दिन के दौरे की शुरुआत अमृतसर के श्री हरी मंदिर साहिब में मत्था टेककर करेंगे। बाद में वो पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। इस दौरान विधानसभा चुनाव परिणामों के साथ निगम चुनाव की तैयरियों पर मंथन करेंगे। केजरीवाल का ये दौरा पंजाब विधानसभा चुनाव के दो महीने बाद हो रहा है।

दिल्ली बिहार के पटना साहिब से बीजेपी के सांसद और जब-तब अपने बागी तेवरों के लिए चर्चित शत्रुघ्न सिन्हा सोमवार को करप्शन के आरोपों में घिरे लालू प्रसाद यादव और दिल्ली के सीएम केजरीवाल का बचाव करते नजर आए. शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्विटर पर लिखा कि नेताओं पर आरोप लगाने वालों को इसका सबूत भी देना चाहिए. वहीं शत्रु के ये तेवर बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी को नहीं भाए. उन्होंने ट्विटर ही शत्रु के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए 'गद्दारों' को बाहर करने की मांग कर डाली. शत्रुघ्न सिन्हा ने सोमवार को ट्वीट किया, 'नकारात्मक राजनीति और विपक्षियों द्वारा हमारे

दिल्ली के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने आज एक फिर प्रेस कॉन्फ्रेंस की. कपिल मिश्रा ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि पार्टी में टिकट बंटवारे को लेकर धांधली हुई. कपिल मिश्रा ने  कहा कि कुछ भ्रष्‍ट लोगों ने पार्टी पर कब्‍जा कर लिया है जहां से उन्‍हें हटाना है. कपिल मिश्रा ने आज की रेस कॉन्फ्रेंस में फिर से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली दिल्ली सरकार ने हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट मामले में 400 करोड़ रुपए का घोटाला किया है. उन्होंने कहा कि

दिल्ली वाटर टैंकर घोटाले की जांच अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दफ्तर तक जा चुकी है. बुधवार को एंटी करप्शन ब्रांच ने अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार से करीब साढ़े 3 घंटे तक पूछताछ की. बता दें कि बिभव कुमार पर दिल्ली सरकार के ही पूर्व जलमंत्री कपिल मिश्रा ने वाटर टैंकर घोटाले की फ़ाइल 11 महीने तक दबाने का आरोप लगाया था. दरसअल, अरविंद केजरीवाल की सरकार ने ही जुलाई 2015 में 5 लोगों की एक कमेटी बनाकर इस मामले की जांच बिठाई. कमेटी ने उसी साल अगस्त में केजरीवाल को जांच रिपोर्ट सौंप दी, जिसमें कहा गया

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बगावती तेवर अपनाए पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने अब AAP नेताओं की विदेश यात्राओं की जानकारी सार्वजनिक किए जाने की मांग को लेकर अनशन शुरू कर दी है. अपने घर के बाहर की अनशन पर बैठे कपिल मिश्रा ने AAP के पांच नेताओं संजय सिंह, आशीष खेतान, सत्येंद्र जैन, राघव चड्ढा और दुर्गेश पाठक की विदेश यात्राओं की सारी जानकारियां सार्वजनिक की जाए. उन्होंने कहा कि यह अनशन नहीं, बल्कि सत्याग्रह है और केजरीवाल जब तक इन यात्राओं की जानकारी सार्वजनिक नहीं करते, तब वह भूख हड़ताल पर रहेंगे, बस जल ग्रहण करेंगे. https://twitter.com/KapilMishraAAP/status/861969481727266816