1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट पर सुनवाई करने वाली विशेष टाडा अदालत आज यानि शुक्रवार को अबु सलेम समेत 7 के खिलाफ अपना फैसला सुनाया है। कोर्ट ने  अबु सलेम और 5 आरोपियों को दोषी करार दिया है। इस मामले में सातवें आरोपी अब्दुल कय्यूम को पर्सनल बॉन्ड पर बरी कर दिया गया है। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने हत्या और साजिश के आरोप में अबु सलेम, मुस्तफा डोसा, उसके भाई मोहम्मद डोसा, फिरोज अब्दुल राशिद और मर्चेंट ताहिर, करीमुल्लाह शेख को दोषी करार दिया है। कोर्ट ने अबु सलेम को इस मौत के मंजर की साजिश रचने का दोषी पाया है, जिसमें

मुंबई वर्ष 1993 के मुंबई धमाकों के मामले में मुंबई की विशेष अदालत टाडा ने सोमवार को फैसला सुरक्षित रख लिया है. अब अदालत 16 जून को फैसला सुनाएगी. अबू सलेम और मुस्तफा डोसा इस मामले में मुख्य आरोपी हैं. मुंबई में हुए इन 13 बम धमाकों में 257 लोग मारे गए थे. इससे पहले 25 अप्रैल को हुई सुनवाई में कोर्ट ने स्पष्ट किया था कि 29 मई की सुनवाई में सजा या सजा की तारीख का ऐलान किया जा सकता है. सलेम इस वक्त नवी मुंबई में तलोजा जेल में बंद है. इस वक्त वह 1995 के बिल्डर प्रदीप जैन