पंजाब में रेत खनन को लेकर सियासत लगातार जारी है। इसको लेकर राजनीतिक गलियारों में जबरदस्त गहमागहमी है। पंजाब कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह इन दिनों विपक्षी दलों के निशाने पर हैं। पंजाब आम आदमी पार्टी कल इनकम टैक्स अथॉरिटी को उनके खिलाफ ज्ञापन सौंपेगी और राणा गुरजीत सिंह के मामले में कार्रवाई की मांग करेगी। इससे पहले मंगलवार को भी आम आदमी पार्टी के विधायकों ने चंडीगढ़ में मार्च निकाला था।

दिल्ली के सीएम केजरीवाल 29 मई को पंजाब दौरे पर जाएंगे, लेकिन इससे पहले ही सियासी पारा गर्म हो गया है. पंजाब कैबिनेट के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने केजरीवाल के दौरे के लेकर निशाना साधा है. केजरीवाल के पंजाब दौरे को लेकर विरोधियों ने सवाल उठाना शरु हो गया है इसमें तरुण चुघ ने भी मोर्चा खोल दिया है. आपको बता दें दिल्ली के सीएम केजरीवाल पंजाब के 29 मई के दौरे को लेकर पंजाब और अमृतसर की टीम सक्रिय है. टीम की तरफ से उस स्थान का भी दौरा किया गया जहां केजरीवाल पंजाब का धन्यवाद करने के लिए पंजाब

AAP में गृहयुद्ध से गुजर रही आम आदमी पार्टी अब अपने संगठन में बदलाव कर रही है. पार्टी ने पंजाब के नये संयोजक के रूप में सांसद भगवंत मान को चुना है, जिसके बाद पंजाब की आम आदमी पार्टी में हलचल सी मच गई है. हालांकि इस पद को देने के साथ ही अरविंद केजरीवाल ने भगवंत मान के सामने एक शर्त भी रखी. केजरीवाल ने मान से कहा है कि उन्हें शराब छोड़नी होगी, अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो उनसे पद वापस ले लिया जाएगा. सूत्रों के मुताबिक, भगवंत मान को पंजाब आप का संयोजक बनाने का फैसला केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के स्टार प्रचारक और पंजाब में संगरूर से सांसद भगवंत मान ने कहा, 'ईवीएम में गलती ढूंढने का कोई मतलब नहीं जब पार्टी नेतृत्व ने चुनावों की पूरी रणनीति को लेकर ऐतिहासिक भूल की हो. हार के कारणों की जांच के लिए पार्टी को सबसे पहले अपने अंदर की कमियां को देखना चाहिए.' मान ने बात एक अंग्रेजी अखबार के साथ बातचीत के दौरान कही.