दिल्ली कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर ने 1984 के सिख विरोधी दंगों से जुड़े एक मामले में पॉलीग्राफ टेस्ट या लाई डिटेक्टर टेस्ट (झूठ पकड़ने वाली मशीन से जांच) कराने के लिए सहमति देने से आज इंकार कर दिया. इस मामले में सीबीआई ने उन्हें तीन मौकों पर क्लीनचिट दी थी. अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट शिवाली शर्मा के समक्ष दायर हलफनामे में टाइटलर ने कहा कि वह यह परीक्षण नहीं कराना चाहते. सीबीआई ने टाइटलर का यह परीक्षण कराने की मांग की थी. इस मामले में एक प्रमुख गवाह विवादित हथियार कारोबारी अभिषेक वर्मा के वकील ने अदालत से कहा कि उनके मुवक्किल की