अमेरिका के एक प्रमुख थिंक टैंक संस्था ने पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा संदेश जारी किया है. सीएसआईएस ने कहा है कि अमेरिका को पाकिस्तान को ये साफ कर देना चाहिए कि अगर वो तालिबान का समर्थन जारी रखता है तो उसे कोई आर्थिक मदद नहीं दी जाएगी. सीएसआईएस का मानना है कि पाकिस्तान तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के लिए अब भी पनाहगाह बना हुआ है. और वह सहयोगी देश होने की बजाय खतरा अधिक है. थिंक टैंक ने इस बात पर जोर दिया कि ट्रंप प्रशासन को इस्लामाबाद को यह साफ करना चाहिए कि अगर वो तालिबान और हक्कानी नेटवर्क को समर्थन