होशियारपुर: सीआईएसएफ के पूर्व एएसआई मदन लाल की तीन दिन पहले हुई हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. हत्या की वजह घरेलू कलह बताया गया है. पुलिस के अनुसार मृतक मदन अपनी पत्नी और बेटी को आए दिन पीटता था.  मां ने विदेश में रह रहे दोनों बेटों को इसकी जानकारी दी. दूसरे बेटे ने पिता की हत्या कराने के लिए डेढ़ लाख रुपए की सुपारी दी. पुलिस ने मृतक की पत्नी निर्मल कौर, बेटे दीपक और सुखदीप को पकड़ लिया है। हत्या में शामिल रशपाल सिंह अभी फरार है. सोमवार को प्रेस वार्ता के दौरान एसएसपी एचएस भुल्लर ने बताया कि 15

दिल्ली मेट्रो की सुरक्षा में लगे सीआईएसएफ ने मेट्रो में चोरी की घटनाओं से जुड़ा चौंकाने वाले आंकड़े जारी किए हैं. इन आंकड़ों की माने तो इस साल पिछले साल से तीन गुना ज्यादा जेब काटने के मामले सामने आए. वहीं, महज़ जनवरी से मई तक के डेटा को देखें तो पॉकेट मारी में 77 फीसदी महिलाएं पकड़ी गई हैं. सीआईएसएफ के अनुसार, पकड़े गए 521 पॉकेटमारों में से 401 महिलाएं थीं. ये 77 प्रतिशत है. सीआईएसएफ के एक  अधिकारी ने बताया, ‘स्पेशल टीम हर लाइन पर चोरी रोकने के लिए अभियान चलाती रहेगी. सबसे ज्यादा पॉकेट मारी की घटनाएं चांदनी