भाजपा सरकार ने पिछले पांच साल तक भर्तियों में हुए भ्रष्टाचार की जांच का आदेश देकर उन प्रतियोगी छात्रों की मुरादें पूरी कर दी हैं, जिनकी आवाज नक्कारखाने में तूती की तरह दब जा रही थीं. प्रतियोगी छात्र अलग-अलग स्तर पर कई सालों से भर्तियों की जांच के लिए आंदोलन चला रहे हैं और उन्होंने अदालत में भी लंबी लड़ाई लड़ी. अब उन्हें उम्मीद है कि भर्तियों का सच सामने आएगा. बुधवार को विधानसभा में इस बात का ऐलान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया. उन्होनें कहा, "पिछली सरकार के दौरान भर्तियों में जमकर गड़बड़ी हुई थी. भर्तियों की सीबीआई जांच होगी और गड़बड़ियों