डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रोहतक के जेल में 15 साल पुराने मामले में सज़ा सुनाई गई, लेकिन राजनीतिक रूप से प्रभावशाली गुरमीत राम रहीम को इस मामले में दोषी ठहराया जाना इतना आसान नहीं था. जान जोख़िम में डालकर अपने साथ हुए अन्याय की लड़ाई लड़ने वाली दो साध्वियों से लेकर सीबीआई के जांच अधिकारियों तक ने इस मामले में बेहद बड़ा ख़तरा मोल लिया है. जानिए, कौन थे ये लोग जिनकी वजह से दोषी ठहराए गए गुरमीत राम रहीम. 1 - वो दो साध्वियां जिन्होंने अपनी परवाह नहीं की इस मामले में दो साध्वियों ने अपनी जान की