पंजाब विधानसभा में बजट पर चर्चा चल रही है, वहीं चर्चा के बीच शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी के विधायकों ने हंगामे के बाद सदन से वॉकाउट कर दिया है. लोक इंसाफ पार्टी के विधायक सिमरजीत बैंस और आम आदमी पार्टी के विधायक सुखपाल खैरा आज भी विधानसभा के बाहर धरना दे रहे हैं.

पंजाब में कांग्रेस सरकार की नीतियों के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल नौ जून को पूरे पंजाब में प्रदर्शन करने जा रही है. ये प्रदर्शन जिला स्तर पर किया जाएगा और डिप्टी कमिश्नर को ज्ञापन सौंपे जाएंगे. शिरोमणि अकाली दल के सांसद प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश सरकार घोटालों से घिरी हुई है और किसान कर्ज के बोझ तले दबते जा रहे हैं.  

पंजाब में रेत खनन घोटाले पर सियासत गरमाती जा रही है. सुखपाल खैरा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बिजनेसमैन कैप्टन रंधावा के दावों को बेबुनियाद बताया और कैप्टन सरकार की ओर से इस घोटाले की जांच को मजाक बताया. वहीं, शिरोमणि अकाली दल ने भी कैप्टन सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और राणा गुरजीत के इस्तीफे की मांग की है.

पंजाब में रेत खनन को लेकर राजनीति गरमाने लगी है. बीजेपी ने कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उनपर अपने नजदिकियों को अवैध तरीके से खनन देने का आरोप लगाया है. जिसके बाद शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी ने भी उनके इस्तीफे की मांग की है. वहीं,कांग्रेस इस मुद्दे पर बचाव की मुद्रा में आ गई है. कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने सफाई दी है कि पंजाब में माइनिंग कारोबार से उनके किसी मुलाजिम का कोई लेना-देना नहीं है. वह या उनकी कंपनी राणा शुगर्स लिमिटेड का माइनिंग व्यवसाय से प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप