देहरादून   अपनी पत्नी अनुपमा गुलाटी की हत्या कर उसके 72 टुकड़े करने वाले हैवान पति राजेश गुलाटी को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. गौरतलब है कि 12 दिसंबर 2010 तो दोविंदगढ़ इलाके के प्रकाश विहार में ये घटना घटी थी. अनुपमा की हत्या का आरोप उसके पति पति राजेश गुलाटी पर लगा था. पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर राजेश गुलाटी पर आरोप था कि उसने अपनी पत्नी अनुपमा की पहले हत्या की और फिर उसकी लाश के 72 टुकड़े कर उसे फ्रीजर में रख दिया. इसके बाद धीरे धीरे वो लाश के टुकड़ों को मसूरी के जंगलों में ठिकाने लगा