भारतीय सेना के सीमापार कड़ी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान की एक पोस्ट को तबाह करने के बाद  अमेरिका के रक्षा सुरक्षा प्रमुख न का एक बयान सामने आया है. उन्होंने अमेरिकी संसद की एक समिति को बताया कि भारत एक ओर पाकिस्तान को राजनयिक मुद्दे पर अलग-थलग करने की कोशिशों में जुटा है तो वहीं दूसरी ओर सीमापार आतंकवाद का समर्थन करने के लिए पाक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की तैयारी भी कर रहा है आपको बता दें कि इस बीच डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन ने पाकिस्तान को दी जाने वाली करीब 1200 करोड़ रु. की मदद में कटौती की है. लेफ्टिनेंट जनरल