हिमाचल के जिला सोलन के बाद अब ब्लू व्हेल गेम ने जिला शिमला के ठियोग के एक बच्चे की जान ले ली है। बच्चे के परिजनों का आरोप है कि ब्लू व्हेल गेम से उनके बच्चे की जान गई है। स्टोर रूम में फंदा लगाने से पहले उसने सुसाइड नोट भी लिखा है। यह बच्चा मिस्त्री के मोबाइल फोन पर अकसर गेम खेलता था। हालांकि बच्चे की मौत को लेकर उसके परिजनों ने पुलिस में मामला दर्ज नहीं करवाया है। ब्लू व्हेल गेम का असर अब जिला शिमला में भी पड़ चुका है। इस गेम का जिले में पहला शिकार ठियोग

तमिलनाडु के मदुरई में ब्‍ल्‍यू व्‍हेल गेम में 19 साल के एक लड़के ने जान दे दी. लड़के ने फांसी लगाकर खुदकुशी की. पुलिस ने बताया कि मृतक बीकॉम सैकंड ईयर का छात्र था. इसके बाद मद्रास हाईकोर्ट ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए कहा है कि मुदरै बेंच सोमवार इसमें सुनवाई करेगी. रूस से गिरफ्तार एडमिन बता दें कि ब्लू व्हेल की एडमिन को रूस से गिरफ्तार किया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, 17 साल की लड़की पर आरोप है कि ब्लू व्हेल चैलेंज के पीछे उसका ही हाथ है. इस गेम को इंस्टॉल करने वाले को वह धमकी देती