पटना बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को साफ किया कि दिल्ली की गद्दी पर पीएम नरेंद्र मोदी का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। बिहार में एनडीए सरकार बनने के बाद सीएम नीतीश ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मोदी का मुकाबला करने की क्षमता किसी में नहीं है। 2019 में मोदी ही पीएम होंगे। नीतीश से जब पत्रकारों ने पूछा कि क्या 2019 में मोदी फिर से पीएम बनेंगे, इसपर उन्होंने कहा, '2019 में दिल्ली की कुर्सी पर कोई और काबिज नहीं होगा।' बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने साथ ही अपने पूर्व गठबंधन सहयोगी आरजेडी पर खुलकर

मानसून लगातार सितम ढा रहा है. भारी बारिश व बाढ़ से बुधवार को उत्तर प्रदेश में सात, असम में पांच, मध्य प्रदेश में दो, उत्तराखंड दो व बिहार में एक व्यक्ति की मौत हो गई. ज्यादातर पहाड़ी व मैदानी राज्यों में बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त है. कई राज्यों में राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित होने से लोगों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ा. वहीं उत्तराखंड में भूस्खलन व बारिश से तीर्थ यात्रियों को खासी दिक्कतें हुईं. राज्यभर में नदी-नाले उफान पर हैं. हरिद्वार में गंगा चेतावनी रेखा से ऊपर बह रही है। टिहरी झील के जल स्तर में तीन मीटर का

बिहार में महागठबंधन के भविष्य पर लटकी तलवार के बीच राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने अपने बेटे और बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का बचाव करते हुए नजर आए. एक न्‍यूज चैनल को दिए साक्षात्‍कार में राजद सुप्रीमो ने कहा कि लालू यादव ने कहा कि मेरे बारे में टेंडर की झूठी बातें फैलाई गई हैं, मैं इनके सामने झुकने वाला नहीं हूं. वहीं तेजस्वी यादव के मुद्दे पर उन्होंने साफ तौर पर कहा कि तेजस्वी यादव का इस्तीफा देने का कोई सवाल ही नहीं बनता है, तेजस्वी को बिहार की जनता, राजद और महागठबंधन ने उपमुख्यमंत्री बनाया है. आपको बता

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को 'टॉपर घोटाले' पर बोलते हुए कहा कि घर के ही कुछ लोग प्रदेश की छवि खराब कर रहे हैं. उन्होंने बिहार के सरकारी स्कूलों का रिजल्ट खराब रहने पर कहा कि नकल के खिलाफ उनके ऐक्शन के कारण ऐसा हुआ है. नीतीश ने सोमवार को पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि बिहार की छवि को बिहार के अंदर के ही लोग खराब कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि दूसरे प्रदेशों में भी इस तरह की घटनाएं सामने आती हैं, लेकिन उसे इतना तूल नहीं दिया जाता. नीतीश ने कहा कि

पटना कोई बड़ी परेशानी आने पर अक्सर लोग पंडितों और ज्योतिषियों का सहारा लेते हैं. इस वक्त लालू प्रसाद यादव का परिवार भी बेनामी संपत्तियों को लेकर बड़ी मुश्किलों में जूझ रहा है. इसे देखते हुए उनके बड़े बेटे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव 'दुश्मनों' से निपटने के लिए तंत्र-मंत्र और वास्तु का सहारा ले रहे हैं. गौरतलब है कि पटना में पेट्रोल पंप अलॉटमेंट के मामले में तेज प्रताप को हाल ही में बीपीसीएल का नोटिस मिला है. विपक्षी नेता इस मामले में उन्हें और लालू प्रसाद यादव को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं. इसी