पेरिस जलवायु संधि पर अब खतरा मंडराने लगा है. अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप के इस संधि को रद्द किए जाने के बाद अब तुर्की ने भी ऐसी ही धमकी दी है. जर्मनी के जी-20 सम्मेलन में तुर्की के राष्ट्रपति अर्दोगन ने कहा कि उनकी सरकार पेरिस जलवायु समझौते को लागू नहीं करेगी. हैम्बर्ग में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अर्दोगन ने कहा, 'अमेरिका के फैसला लिए जाने के बाद हम भी अपनी संसद में इस संधि को मान्यता नहीं देने जा रहे' जी-20 के 19 सदस्यों ने 2015 में हुई इस संधि को लागू किए जाने की प्रतिबद्धता को दोहराया. सम्मेलन के दौरान

तुर्की तुर्की का प्रमुख शहर इस्तांबुल में सैंटा क्लॉज की वेष धरे बंदूकधारियों ने नाइट क्लब में अंधाधुंध गोलीबारी की, जिसमें कम से कम 35 लोगों की मौत हो गई, जबकि 50 लोग घायल हुए हैं. तुर्की की दोजान सामाचार की रिपोर्ट के मुताबिक, इस्तांबुल के सबसे लोकप्रिय रेइना नाइट क्लब में सैंटा का वेष धरे दो बंदूकधारी घुसे और वहां नए साल का जश्न मना रहे लोगों पर गोलियां दागने लगे. वहीं शहर के यूपोप से सटे बॉसफोरस इलाके में स्थित इस नाइट क्लब में मौजूद वासिप साहीन ने संवाददाताओं को बताया, 'हमारे कम से कम 35 लोगों की जान चली गई.