दिल्ली शुक्रवार को एक अभूतपूर्व फैसले में देश की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनियों में से एक टाटा मोटर्स ने अपने सभी कर्मचारियों के पदनाम को समाप्त करने का ऐलान किया है. इसका साफ मतलब है कि टाटा मोटर्स में अब कोई ‘बॉस’ नहीं होगा. टाटा मोटर्स में उपर के कुछ गिने चुने अधिकारियों को छोड़ बाकी 10000 पदनाम खत्म करने का फैसला किया गया है. यह निर्णय कंपनी में सीनियोरिटी से मुक्त कामकाजी माहौल बनाने के लिए किया गया है. बुधवार को जारी एक सर्कुलर के जरिए टाटा मोटर्स ने अपने कर्मचारियों को यह जानकारी दी है. इस पहल के तहत कर्मचारियों की