पटियाला(जोसन): पी.आर.टी.सी. के मैनेजिंग डायरैक्टर और सीनियर आई.ए.एस. की लोक अदालत ने आज यहां दोषी बना कर नौकरी से निकाले 41 कंडक्टरों को फिर से नौकरी पर बहाल कर दिया है जबकि 39 कंडक्टरों की अपीलों को डिसमिस कर दिया है. लोक अदालत में कुल 70 कंडक्टर अपनी अपीलें लेकर पहुंचे थे. मनजीत सिंह नारंग ने बताया कि अब तक चोरी के मामलों में 149 कंडक्टर पिछले समय में दोषी करार देकर निकाले गए थे जिन्होंने अपनी अपीलें पी.आर.टी.सी. को लगाई हुई थीं. उन्होंने बताया कि पी.आर.टी.सी. ने किसी भी कंडक्टर को माफ करने के लिए अपने नियम बनाए हैं. उन नियमों

HRTC में युवाओं को नौकरी का मौका मिलने जा रहा है. निगम में एक हजार कंडक्टरों की भर्ती होगी. सचिवालय में आयोजित बीओडी की बैठक में इस फैसले को मंजूरी दी गई. HRTC के ITI डिप्लोमा प्राप्त पीस मील वर्कर चार साल बाद अनुबंध पर आएंगे, जबकि अन्य पीस मील वर्करों को 5 साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद ही अनुबंध पर लिया जाएगा. आपको बता दें कि अभी पीस मील वर्कर को पांच साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद ही अनुबंध पर लिया जाता था. HRTC में पहले लिए गए कंडक्टर भर्ती का मामला हाईकोर्ट में विचाराधीन है. इसके