अफगानिस्तान के दक्षिणी कंधार प्रांत स्थित सैन्य ठिकाने पर आतंकी संगठन तालिबान ने हमला कर दिया, जिसमें कम से कम 26 अफगान सैनिकों की मौत हो गई और 30 से ज्यादा घायल हो गए. इसके अलावा आठ सैनिक अभी तक लापता हैं. तालिबान आतंकियों ने यह हमला मंगलवार रात किया. टोलो न्यूज के मुताबिक जब तालिबान आतंकियों ने दक्षिणी कंधार प्रांत के खाक्रिज जिले में स्थित सैन्य ठिकाने पर हमला बोला, उस समय वहां पर 82 सैनिक मौजूद थे. इसके अलावा बाकी सैनिक सुरक्षित बताए जा रहे हैं. वहीं, अफगानिस्तान के उत्तरी बघलान के बघलान-ए-मरकजी जिले में सैन्य अभियान में कम से कम

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के पश्चिमी क्षेत्र में सोमवार सुबह करीब सात बजे एक कार बम हमले में कम से कम 35 लोग मारे गये और 40 अन्य घायल हो गये. हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है. पश्चिमी काबुल में आज सरकारी कर्मचारियों को लेकर जा रही बस को एक कार बम से निशाना बनाया गया. इस हमले की जानकारी गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब दानिश ने दी. दानिश ने कहा, सुबह भीड़-भाड़ के वक्त खनन मंत्रालय के कर्मचारियों को लेकर जा रही बस को कार बम से निशाना बनाया गया. हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है. गौरतलब है

अफगानिस्तान के हेलमंड प्रांत में स्थित एक बैंक में गुरुवार को हुए विस्फोट और गोलीबारी में 24 अफगानिस्तानी मारे गए और 50 अन्य घायल हो गए. आधिकारिक प्रवक्ता उमर जवाक ने बताया, "लश्कर गाह शहर में दोपहर को काबुल बैंक की शाखा पर गोलीबारी हुई और एक आत्मघाती हमलावर ने कार में विस्फोट कर दिया." हमले के दौरान कई नागरिक और सुरक्षाकर्मी इमारत में प्रवेश का इंतजार कर रहे थे. प्रवक्ता ने कहा कि घायलों को एक अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. हमले में मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है. हालांकि अभी इस कार ब्लास्ट में मृतकों की संख्या

अफगानिस्तान एक बार फिर धमाके से दहल गया है. इस बार उत्तर-पश्चिम हेरात में मंगलवार को एक मस्जिद में धमाका हुआ, जिसमें सात लोगों की मौत हो गई. यह धमाका हेरात के जाम-ए-मस्जिद में हुआ है. इस धमाके की वजह से 15 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर मिली है. बीते 3 जून को ही अफगानिस्तान में एक शव यात्रा के दौरान बम बलास्ट में 18 लोग मार गए थे. काबुल के खैर खाना इलाके में इस धमाके की चपेट में आने से 30 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. अफगानी मीडिया के मुताबिक पुलिस और विद्रोहियों के बीच

अफगानिस्तान के दक्षिणी प्रांत कंधार में एक सैन्य शिविर पर हुए आतंकी हमले में कम से कम 10 सैनिक मारे गए हैं. यह जानकारी आज अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने दी. आर्मी बेस पर किए गए हमले में दस से ज्यादा जवानों की मौत  हो गई जबकि दर्जनों की संख्या में जवान घायल हैं. घायलों का मिलिट्री अस्पताल में इलाज चल रहा है.. मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘बीती रात अफगानिस्तान के दुश्मनों ने शाह वली कोट जिले में सेना की 205वीं कोर के अचाकजई शिविर पर हमला किया. 10 बहादुर सैनिक शहीद हो गए और नौ अन्य घायल हुए हैं.

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में अफगानिस्तान की खुफिया एजेंसी राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय (एनडीएस) ने पाकिस्तान दूतावास के दो कर्मचारियों को हिरासत में लिया,  हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि उन्हें किन परिस्थितियों में हिरासत में लिया गया. पाक मीडिया के अनुसार, पहले से ही बिगड़े पाकिस्‍तान-अफगानिस्‍तान संबध ने बुधवार को और बदतर रूप ले लिया जब अफगानिस्‍तान की जासूसी एजेंसी ने पाकिस्‍तान दूतावास के दो स्‍टाफ को हिरासत में ले घंटों तक प्रताड़ित किया। हालांकि तीन घंटे के बाद उन्‍हें रिहा कर दिया गया. कुलभूषण जाधव मामले में 1961 में हुए कूटनीतिक संबंधों के समझौते का उल्‍लंघन का आरोप