बढ़ती हुई पार्किंग समस्या और सड़क जाम से निजात पाने के लिए पंजाब पुलिस ने नई एप लॉन्च की है। पंजाब पुलिस ने प्राइवेट कंपनी के साथ मिलकर पीसीए स्टेडियम मोहाली में इस ऐप को लॉन्च किया। Park Safe नाम की इस एप से गलत पार्किंग करने वालों से फोन पर सीधे से बात हो सकेगी। वहीं इस नई एप से जाम वाले इलाकों की जानकारी भी आसानी से मिल सकेगी, जिससे लोगों को काफी फायदा होगा।

अमृतसर भारत और पाकिस्तान के व्यापारिक रिश्तों को आगे बढ़ाने के लिए वाघा बार्डर पर इंटिग्रेटेड चैक पोस्ट लगाया गया, लेकिन वहां व्यापारियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इस मामले को लेकर वाघा बार्डर में राज्यसभा सांसद श्वेत मलिक ने व्यापारियों के साथ बैठक की. श्वेत मलिक ने व्यापारियों को आ रही दिक्कतों को सुना और जल्द ही उन्हें दूर करने का आश्वासन दिया. बैठक के बाद स्वेत मलिक ने बताया कि सुरक्षा समस्याओं को दूर करने के लिए जल्द ही आईसीपी पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे.

बराड़ा में एक ज्वैलरी शोरूम में ठगी का मामला सामने आया, एक शातिर ठग पहले ज्वैलर्स की आंखों में धूल झोंककर करीब एक लाख का सोना उड़ा ले गया, उसके तुरंत बाद फिर उसी गैंग के सदस्यों ने अंगूठियां भी चुरा ली। साहा लिंक रोड में स्थित ज्वैलरी शोरूम में हुई ये वारदात वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड हो गई। पहले एक शातिर ठग दुकान में घुसता है, और दुकान मालिक को नकली ब्रौसलेट देकर एक लाख का सोना लेकर फरार हो जाता है। आप भी देखिए CCTV फुटेज [embed]https://www.youtube.com/watch?v=6a5giDIohpk[/embed]

पंजाब राज्य बिजली निगम (पावरकॉम) द्वारा पंजाब के डिफाल्टरों के खिलाफ शुरू की गई सख्ती की मुहिम रंग लाने लगी है। बिजली निगम ने पिछले दिनों ही अपनी सख्ती का ‘डंडा’ चलाकर इन डिफाल्टरों से 151 करोड़ रुपए एकत्र किए हैं और यह मुहिम अभी जारी है। बिजली निगम को 31 मार्च तक लगभग 250 करोड़ रुपए से अधिक एकत्र करने का लक्ष्य रखा गया है। इन 151 करोड़ रुपयों में से पंजाब बिजली निगम ने 73 करोड़ रुपए जनवरी महीने में, 62 करोड़ रुपए फरवरी महीने में गैर-सरकारी डिफाल्टरों से एकत्र किए हैं। पंजाब में सरकारी और गैर-सरकारी डिफाल्टरों की

पंजाब बिजली निगम गर्मी और पैडी सीजन के लिए पूरी तरह तैयार है। भीषण गर्मी में किसानों को धान के लिए 8 घंटे व पंजाब के लोगों को 24 घंटे बिजली देना बिजली निगम के लिए एक जंग जीतने के बराबर होता है। जुलाई 2016 में  11279 मैगावाट के लगभग बिजली डिमांड थी, जो इस वर्ष जुलाई 2017 में 5 फीसदी बढ़कर 11978 मैगावाट होने का अनुमान लगाया गया है। बिजली निगम के चेयरमैन इंजी. के.डी. चौधरी ने निगम अधिकारियों की बैठक करके पूरी तैयारी का जायजा लेते हुए पंजाब में डिमांड से अधिक बिजली सप्लाई का इंतजाम करने के आदेश

संगरूर में पुलिस ने हरदेव सिंह हत्याकांड में बबली रंधावा के चार साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक आरोपी दलविंदर, वरिंदर, गुरप्रीत और सराज खान को अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के पास से दो पिस्टल, सोलह जिंदा कारतूस बरामद किए गए है। वहीं, मामले में एक और आरोपी धनवंत सिंह की पुलिस को तलाश है।पुलिस का दावा है कि धनवंत को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। आपको बता दें कि मामले का मुख्य आरोपी बबली रंधावा कोर्ट में सरेंडर कर चुका है।

लुधियाना लुधियाना में हॉरर किलिंग का मामला सामने आया है, जहां दो सगी नाबालिग बहनों को उनके ही माता-पिता ने पहले जहरीला पदार्थ खिलाकर बेहोश किया और फिर उनके हाथ-पांव बांध कर सिधवां नहर में फेंक दिया. इस दौरान एक बहन की मौत हो गई, जबकि दूसरी की जान बच गई है. मामले का खुलासा भी मृतका की बहन ने किया. फिलहाल, पुलिस ने मृतक लड़की की मां को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसका पिता फरार है. वहीं, पुलिस ने दूसरी लड़की को मजिस्ट्रेट के सामने पेश कर उसे नारी निकेतन जालंधर भेज दिया है.

अबोहर नगर काउंसिल की लापरवाही के चलते अबोहर शहर अंधेरे में डूब गया है. दरअसल, करोड़ों का बिल बकाया होने के चलते बिजली विभाग ने नगर काउंसिल के सभी बिजली कनेक्शन काट दिए हैं. बिजली कनेक्शन काटे जाने से रात के वक्त शहर भर में अंधेरा पसरा रहता है. बिजली विभाग के मुताबिक, इस बारे में नगर काउंसिल को नोटिस जारी किया गया था, बावजूद इसके नगर काउंसिल की ओर से करीब 19 करोड़ रुपए का बकाए बिल का भुगता नहीं किया गया. बिजली विभाग के मुताबिक, बकाया भुगतान ना करने पर मजबूरन उन्हें ये कार्रवाई करनी पड़ी. उधर, नगर काउंसिल मामले में

जगरांव रायकोट तहसील परिसर में लोगों ने उस वक्त हंगामा शुरू कर दिया, जब काफी देर तक इंतजार करने के बावजूद भी तहसीलदार दफ्तर नहीं पहुंचे. लोगों ने आरोप लगाया कि कई दिन से तहसीलदार काम पर नहीं आ रहे हैं और ना ही उन्होंने कोई छुट्टी ले रखी है. लोगों का आरोप है कि हर रोज वो लोग कार्यालय में आते हैं, लेकिन तहसीलदार नहीं होने के चलते उनका समय तो बर्बाद होता ही है, साथ ही कई दिन से उनके काम भी लटके हुए हैं. फिलहाल, एसडीएम ने मामले में शिकायत मिलने के बाद नायब तहसीलदार को लोगों के काम निपटाने

श्री आनंदपुर साहिब नंगल-चंडीगढ़ मुख्य मार्ग पर एक दर्दनाक सड़क हादसा हुआ है, जिसमें एक 12 साल के मासूम बच्चे की मौत हो गई, जबकि उसकी मां की हालत गंभीर बताई जा रही है. बताया जा रहा है कि घायल महिला को पीजीआई में भर्ती कराया गया है. वहीं, दर्दनाक हादसे की ये तस्वीरे सीसीटीवी में कैद हो गई है. दरअसल, एक महिला अपने 12 साल के बेटे के साथ एक्टिवा पर जा रही थी. तभी सामने से आ रही एक सेंट्रो कार ने उसे टक्कर मार दी. टक्कर इतनी जोरदार थी कि एक्टिवा पर बैठा मासूम बच्चा हवा में आठ से दस