पंजाब में अमृतसर एयरपोर्ट से इंटरनेशनल फ्लाइट्स को दिल्ली शिफ्ट करने के मामले में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। पिछली सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने एयर इंडिया से जवाब मांगा था, जिसपर एयर इंडिया ने बताया कि अमृतसर से इंटरनेशनल फ्लाइट्स के चलते उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसलिए फ्लाइट्स को दिल्ली शिफ्ट किया गया है। वहीं, याचिकाकर्ता के वकील ने कोर्ट को बताया कि कई निजी एयरलाइंस अमृतसर से इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू करने को तैयार है। मामले में अगली सुनवाई 26 मई को होगी।

पंजाब में वीआईपी कल्चर को लेकर आज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह रिव्यू मीटिंग लेंगे। जानकारी के मुताबिक इस मीटिंग में पंजाब के डीजीपी और एडीजीपी भी मौजूद रहेंगे। बैठक में प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी बात की जाएगी। इसके अलावा सीएम अमरिंदर सिंह बैठक में जरूरी निर्देश भी देंगे।

आज कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में पंजाब मंत्रिमंडल की अहम बैठक होगी। पहले ये बैठक 20 अप्रैल को रखी गई थी लेकिन प्रधानमंत्री द्वारा इसी दिन SYL मुद्दे पर पंजाब-हरियाणा के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाने की वजह से ये बैठक आज बुलाई गई है। जानकारी के मुताबिक बैठक में SYL मुद्दे पर प्रधानमंत्री के समक्ष रखे जाने वाले पंजाब के पक्ष पर भी चर्चा की जाएगी। इसके अलावा बैठक में संसदीय सचिव लगाने संबंधी आॢडनैंस पर भी चर्चा हो सकती है। इस दौरान पहली मंत्रिमंडल बैठक में हुए 118 फैसलों पर हुई कार्रवाई की समीक्षा की जाएगी। उल्लेखनीय है कि

जालंधर के गढ़ा इलाके में 16 अप्रैल को एक युवक की हत्या मामले में दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपी सगे भाई है और नशे को लेकर इन्होंने अपने दोस्तों के साथ मिलकर टिंकू नाम के युवक की तेजधार हथियार से हमला कर हत्या कर दी थी। फिलहाल पुलिस, बाकी आरोपियों को तलाश में जुट गई है।

पंजाब में निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ एक तरफ जहां अभिभावकों ने मोर्चा खोल रखा है, सड़कों पर उतरकर मनमानी का विरोध किया जा रहा है। वहीं, अब शिक्षा विभाग भी निजी स्कूलों की मनमानी की शिकायतों पर एक्शन लेता दिखा रहा है। गुरदासपुर में जिला शिक्षा अधिकारी सतिंदर सिंह ने कई निजी स्कूलों नें जाकर जांच की। सतिंदर सिंह ने बताया कि जो स्कूल नियमों कायदों की अनदेखी कर रहे हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी

एक महीना पूरा करने के बाद अब जल्द ही पंजाब सरकार के कैबिनेट का विस्तार देखने को मिल सकता है। सूत्रों की मानें तो अगले महीने में कैप्टन सरकार के कैबिनेट का विस्तार हो सकता है, जिसमें आठ मंत्री कैबिनेट में शामिल किए जा सकते है। ये विस्तार 15 मई के बाद संभव है।

अमृतसर श्री अकाल तख्त साहिब पर पांच सिख साहिबान की एक अहम बैठक हुई, जिसमें पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान डेरा सच्चा सौदा में वोट मांगने गए नेताओं को तलब किया गया. इस मामले में 44 सिख नेताओं को तलब किया गया था, लेकिन 40 नेता ही श्री अकाल तख्त साहिब के सामने पेश हुए. इन नेताओं को गुरुधामों में सेवा करने के आदेश दिए गए. इसी के साथ जो नेता श्री अकाल तख्त साहिब के सामने पेश नहीं हुए उन्हें अगली बैठक में पेश होने को कहा गया. इससे पहले तख्त श्री दमदमा साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरमुख सिंह अकाल तख्त पर

चंडीगढ़/जलालाबाद कनाडा के रक्षा मंत्री हरजीत सिंह सज्जन के पंजाब दौरे को लेकर पंथक जत्थेबंदियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के उस बयान की निंदा की, जिसमें कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हरजीत सिंह को खालिस्तानी समर्थक बताते हुए उनसे ना मिलने की बात कही है. प्रोफेसर गुरदर्शन सिंह ढिल्लों ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह का हरजीत सिंह सज्जन के बारे में दिया गया बयान निंदनीय है. उन्होंने कहा कि ऐसा बयान देकर सीएम ने पूरी सिख कम्युनिटी की भावनाओं को आहत किया है. वहीं, पंजाब कांग्रेस ने कनाडा के रक्षा मंत्री हरजीत सिंह सज्जन के

अमृतसर पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार आईपीएल मैच में सट्टा लगाने वाले छह लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस ने 17 मोबाइल, लेपटॉप, और 50 हजार रुपए का कैश बरामद किए हैं। पुलिस को पिछले कई दिनों से आईपीएल मैच में सट्टा लगाने की सूचना मिल रही थी, जिसके आधार पर सुदर्शन नगर और लाहोरी गेट पर छापेमारी की गई। जहां से छह सट्टेबाजों को गिरफ्तार किया। फिलहाल पुलिस इनके बाकी साथियों की तलाश कर रही है।

जालंधर के अर्बन एस्टेट इलाके में शादी समारोह में शामिल होने आए युवकों पर अज्ञात लोगों ने हमला बोल दिया। इनमें से एक युवक की तेजधार हथियार से हत्या कर दी गई,जबकि इस हमले में छह युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गए। घायलों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल, पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। हालांकि, अभी तक पुलिस के पास हमलावरों का कोई सुराग हाथ नहीं लगा है।