पंजाब में रेत खनन को लेकर सियासत लगातार जारी है। इसको लेकर राजनीतिक गलियारों में जबरदस्त गहमागहमी है। पंजाब कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह इन दिनों विपक्षी दलों के निशाने पर हैं। पंजाब आम आदमी पार्टी कल इनकम टैक्स अथॉरिटी को उनके खिलाफ ज्ञापन सौंपेगी और राणा गुरजीत सिंह के मामले में कार्रवाई की मांग करेगी। इससे पहले मंगलवार को भी आम आदमी पार्टी के विधायकों ने चंडीगढ़ में मार्च निकाला था।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का कहना है कि सऊदी अरब में कथित रूप से बेची और अत्याचार का शिकार जालंधर की रहने वाली 55 वर्षीय महिला बुधवार को भारत लौट आई हैं। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर ये जानकारी दीं। एक खबर के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस मामले पर ध्यान दिया। खबर में महिला के पति कुलवंत सिंह ने आरोप लगाया था कि उसकी पत्नी सुखवंत कौर तीन महीने के टूरिस्ट वीजा पर इस साल जनवरी में सऊदी अरब गई थी। उसे वहां बेचा गया और उस पर अत्याचार किया गया। खबर के अनुसार सुखवंत कौर को

पठानकोट पंजाब में एक बार फिर आतंकी सरगर्मियां बढ़ गई हैं। पंजाब पुलिस ने एक और खालिस्तानी आतंकियों के नेटवर्क का पर्दाफाश किया है। इंटेलिजेंस विंग और मोहाली पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन के तहत खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के चार आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक महिला आतंकी भी शामिल है। पुलिस के मुताबिक इनके निशाने पर 1984 सिख दंगों के आरोपी सज्जन कुमार और जगदीश टाइटलर थे। फिलहाल जांच की जा रही है कि इन आतंकियों को फंडिंग कौन कर रहा है और मोहाली और चंडीगढ़ में इन्हें पनाह देने वाले कौन हैं। गौरतलब है कि 21 मई को अजनाला से दो

पंजाब कैबिनेट की चंडीगढ़ में अहम बैठक हुई. बैठक की अध्यक्षता पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने की. पंजाब सचिवालय में हुई कैबिनेट की इस बैठक में धारा 67ए को खत्म करने को मंजूरी दे दी गई. इस धारा के खत्म होने से अब किसानों की जमीन की कुर्की नहीं की जा सकेगी. इसके साथ ही सभी मार्केट कमेटियों को भंग किया गया, बैठक में एसिड अटैक पीड़ितों को आठ हजार रुपए प्रतिमाह देने का भी फैसला लिया गया, साथ ही शगुन स्कीम का नाम बदलकर आशीर्वाद स्कीम करने करो भी मंजूदी दे दी गई.  

रेत खनन मामले के विरोध में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के आवास का घेराव करने जा रहे आप विधायकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

गुरदासपुर में एक बुजुर्ग ने घरेलू कलह के चलते खुदकुशी कर ली। मृतक का शव रेलवे ट्रैक से बरामद किया गया है। रेलवे पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जोकि एसएसपी के नाम लिखा गया है। सुसाइड में मृतक ने अपने बहू और बेटों पर तंग करने और प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। फिलहाल, रेलवे पुलिस ने छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

नवांशहर में पुरानी रंजिश को लेकर एक युवक पर फायरिंग कर दी गई। युवक के कंधों में दो गोलियां लगी जिससे वो गंभीर रूप से घायल हो गया। पीड़ित को उसके दोस्त ने अस्पताल पहुंचाया, जहां से उसे पीजीआई रैफर कर दिया गया है। पुलिस के मुताबिक पीड़ित अपने दोस्त के साथ पेट्रोल डलवाने आया था। इसी दौरान दो बाइकों पर आए युवकों ने उस पर फायरिंग कर दी। मामला पुरानी रंजिश से जुड़ा है। वारदात से एक दिन पहले फेसबुक पर भी आरोपियों ने धमकी दी थी। फिलहाल, पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जालंधर के श्रीराम चौक पर भारतीय जनता युवा मोर्चा ने राज्य की कांग्रेस सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी की। इस दौरान पंजाब की कांग्रेस सरकार के दौरान रेत की खदानों में भ्रष्टाचार के खिलाफ भी हल्ला बोला। जिला अध्यक्ष मनीष विज ने कहा कि ये सरकार बिजली अपने पाकिस्तानी मित्रों को देना चाहती है।पंजाब में बिजली कट दस साल बाद दोबारा शुरू कर दिए गए हैं।

आज सिखों के पांचवें गुरू अर्जुन देव जी का शहीदी दिवस है। उन्हें आध्यात्मिक जगत में गुरु के रूप में सर्वोच्च स्थान प्राप्त है। अपने धर्म के प्रति निष्ठां और धर्मनिरपेक्षता के लिए अपनी प्राण की आहुति देने वाले अर्जुन देव जी का जन्म गोइंदवाल साहिब में 18 वैशाख 7 विक्रम संवत तदनुसार 15 अप्रैल 1563 ईस्वी को हुआ था । वे सिखों के परम पूज्य चतुर्थ अर्थात चौथे गुरु गुरु राम दास के सुपुत्र थे और उनकी माता का नाम बीवी भानी जी था। उनका विवाह 1579 ईसवी में हुआ था । उनकी पत्नी का नाम गंगा जी तथा

फिरोजपुर से भारत-पाकिस्तान के हुसैनीवाला सीमा स्थित बीएसएफ के म्यूजियम में शहीद-ए-आजम भगत सिंह की पिस्तौल रखी गई। पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश के बाद पिछले सप्ताह पिस्तौल बीएसएफ मुख्यालय इंदौर से पंजाब लाई गई थी। बीएसएफ के म्यूजियम को  बिना औपचारिक उद्घाटन के शुरू कर दिया गया है। इससे पहले भगत सिंह की पिस्तौल कहां रखी जाए, इसको लेकर संशय बना हुआ था। आखिरकार बीएसएफ ने पिस्तौल को  हुसैनीवाला सीमा पर बने बीएसएफ के म्यूजियम में रखने का फैसला लिया।