आतंकी बुरहान वानी के एनकांउटर को आज एक साल पूरा हो गया है। श्रीनगर में हिंसा की आशंका और अलगाववादियों के बंद के आह्वान पर घाटी में भारी फोर्स तैनाती की गई है। श्रीनगर के साथ ही दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग और पुलवामा समेत उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले में धारा एक सौ चवालिस लागू कर दी गई है। हर किसी के बाहर निकलने और वाहनों के चलने पर पाबंदी रहेगी।  हालांकि, आपात सेवा और कर्मचारियों को इस सेवा से मुक्त रखा गया है, साथ ही इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई है। पाक ने फिर तोड़ा सीजफायर उधर, पुंछ में पाकिस्तान

उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले में तैनात एक कश्मीरी जवान सेना के कैंप से एके-47 और तीन मैगजीन लेकर फरार हो गया है. अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक जबूर अहमद ठाकोर 173 टेरिटोरियल आर्मी रेजिमेंट के इंजीनियरिंग विंग में तैनात था, जो बारामुला जिले के गांटमुला से फरार है. जहूर ठाकोर रात में सेना की यूनिट को चकमा देकर फरार हुआ है. ठाकोर पुलवामा का रहने वाला है. उसकी तलाश में पुलिस ने सर्च अभियान शुरू किया है. पुलिस ने उसके ज्ञात ठिकानों और घर पर सुरक्षा बल भेजे हैं और पूरी तत्परता के साथ तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. गौरतलब है कि

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सेना का ऑपरेशन लगातार जारी है. पुलवामा में पिछले 24 घंटों से सुरक्षाबल आतंकियों से मुठभेड़ कर रहे थे. अब मुठभेड़ खत्म हो गया है. इस कार्रवाई में जवानों ने तीनों आतंकियों को ढेर कर दिया है. सोमवार से शुरू हुए इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों तीन आतंकियों को ढेर कर दिया. ये एनकाउंटर पुलवामा के बामनू इलाके में चल रहा था. इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है. ये एनकाउंटर सोमवार सुबह शुरू हुआ था. बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों ने तीन नए आतंकियों को अपना निशाना बनाया. आपको बता दें कि जून के आखिर में ही सेना

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच देर रात से मुठभेड़ जारी है। सुरक्षाबलों को खबर मिली थी कि मलंगपोरा गांव मे आतंकी छिपे हैं। जैसे ही सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान शुरू किया, आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। कहा जा रहा है कि तीन आतंकी इलाके में छिपे हुए थे, जिसमें से सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया है, जबकि एक को घेर लिया है। वहीं सुरक्षाबलों पर स्थानीय शरारती तत्व पत्थरबाजी भी कर रहे हैं। गांव में आतंकी रियाज़ निक्कू और सैफुल्लाह मीर छुपे होने की आशंका हैं। फिलहाल दोनों ओर से गोलीबारी हो रही है।

हजिरा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में नवाज सरकार और पाक आर्मी के खिलाफ आजादी के नारे लगे हैं. पीओके के बड़े लीडर हयात खान ने कहा कि वो पाक आर्मी और पीएम को बताना चाहते है कि वे यहां पर आतंकियों को भेजना बंद कर दें. हद हो गई है, हम उन्हें यहां से बाहर करने में अब देर नहीं करेंगे. https://twitter.com/ANI_news/status/881411822229651456 पाक आर्मी और नवाज के खिलाफ पीओके के हजीरा में ये नारेबाजी हुई है. इससे पहले भी सरकार का विरोध किया जा चुका है और चेताया जा चुका है कि आतंकियों के हमलों को अब और बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. दरअसल, हाल

इस्लामाबाद पाकिस्तान ने हाफिज सईद के संगठन तहरीक-ए-आजादी (जम्मू एंड कश्मीर) पर बैन लगा दिया है. यह कदम प्रधानमंत्री मोदी और ट्रंप की मुलाकात के बाद उठाया गया है. ऐसा माना जा रहा है कि पाकिस्तान सरकार द्वारा लिया गया यह फैसला ट्रंप की आतंकवाद विरोधी नीति से प्रभावित होकर लिया गया है. जमात-उद-दावा अब तहरीक-ए-आजादी (जम्मू एंड कश्मीर) के नाम से जाना जाता है और 2008 के मुंबई हमलों के पीछे इसी संगठन का हाथ था. बीते जनवरी में पाकिस्तान ने एक बड़ा फैसला लेते हुए हाफिज सईद को नजर बंद कर दिया था और उसके संगठन जमात-उद-दावा पर निगरानी रखने

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों की बीच शनिवार सुबह 6 बजे से शुरू हुई मुठभेड़ में 2 आतंकी ढेर हो गए हैं. इस ऑपरेशन में टॉप लश्कर कमांडर बशीर लश्करी मारा गया है. इसके अलावा क्रॉस फायरिंग में 2 नागरिकों की भी मौत हो गई है, जिसमें एक महिला है, जबकि कई घायल हो गए हैं. सुरक्षाबलों ने एसएचओ फिरोज डार की शहादत के जिम्मेदार टॉप लश्कर कमांडर आतंकी बशीर लश्करी को घेर लिया था. सुरक्षाबलों ने शनिवार सुबह अनंतनाग जिले के डेलगम गांव को घेरा और खोज अभियान शुरू किया था. यहां एक आवासीय घर में आतंकियों

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में नेशनल हाइवे पर लैंडस्लाइड हुई है। लैंडस्लाइड की वजह से हाइवे पर दोनों तरफ की आवाजाही रोक दी गई है और सड़क की मरम्मत का काम शुरू कर दिया गया है। हालांकि, लैंडस्लाइड का असर अमरनाथ यात्रा पर भी पड़ा है, सभी अमरनाथ यात्रियों के तीसरे जत्थे को जम्मू में ही रोक दिया गया है।

पाकिस्तान की अोर से एक बार फिर सीजफायर उल्लंघन का मामला सामने अाया है। शुक्रवार तड़के पाकिस्तानी सेना की अोर बालाकोट सेक्टर में फायरिंग की गई। इस हमले में 1 नागरिक घायल हो गया है। उधर, भारतीय सेना भी मुंहतोड़ जवाब दे रही है। इ ससे पहले पाक सेना ने आतंकियों को भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ कराने के लिए बुधवार देर रात पुंछ सेक्टर में भारी गोलाबारी की। भारतीय सेना की पांच चौकियों को निशाना बनाकर की गई गोलाबारी में दो जवान घायल हो गए। जवाब में भारतीय सेना ने भी पाक को मुंहतोड़ जवाब दिया। सीमा पार पाक सेना को

जम्मू LoC पर सीमा पार से संघर्षविराम का उल्लंघन लगातार जारी है. पुंछ सेक्टर में देर रात 1:30 बजे पाकिस्तानी सेना की ओर से रुक-रुक कर फायरिंग हुई. छोटे, ऑटोमेटिक हथियारों और मोर्टार के जरिए पाकिस्तान की फायरिंग में दो भारतीय जवानों को मामूली चोट आई है, जिन्हें पास के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती कराया गया है. भारत की ओर से भी माक़ूल जवाब दिया गया. इससे पूर्व बुधवार को भी पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर के राजौरी और पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के करीब गोलीबारी कर और गोले दागकर संघर्षविराम का उल्लंघन किया था. एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया था