मंगलवार को सुद्धमहादेव के निकट तरखड़ के पास संदिग्ध देखे जाने के बाद हरकत में आई पुलिस, सीआरपीएफ व सेना ने चिनैनी क्षेत्र के जंगलों में दूसरे दिन भी सर्च अभियान चलाया। दो दिनों तक चले इस अभियान में सुरक्षाबलों को कोई भी सफलता नहीं मिली है। हालांकि संदिग्धों के देखे जाने की खबर के बाद पुलिस ने हाई अलर्ट कर दिया है और वाहनों की भी चेकिंग की जा रही है। मंगलवार दोपहर को सुरक्षा एजेंसियों को सूचना मिली कि सुद्धमहादेव के पास दो संदिग्ध देखे गए हैं, जिन्होंने सेना की वर्दी पहनी हुई थी और हथियार लिए हुए थे।

घाटी में हिंसा का केंद्र बने दक्षिणी कश्मीर में जंगलराज खत्म करने के लिए सेना ने एक पूरी ब्रिगेड को खास अभियान में झोंक दिया है। पुलवामा, शोपियां, अनंतनाग और कुलगाम में हालात को काबू करने के लिए बेखटके सेना सहित सीआरपीएफ और पुलिस के चार हजार जवानों का अमला अभियान में जुट गया है। इन इलाकों में भीतरी सड़कों पर हाथों में पेट्रोल बम, लाठियां और पत्थर लिए घूम रहीं उपद्रवियों की टोलियां हाईवे की आवाजाही के लिए भी चुनौती बनी हुई हैं। खुफिया इनपुट हैं कि आतंकी कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद भड़की हिंसा की आड़ में करीब

सेना का दावा है कि पुंछ में आतंकी हमले के पीछे पाकिस्तान का हाथ है। नगरोटा स्थित 16 कोर के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल आरआर निंभोरकर ने हमला स्थल का बुधवार को दौरा करने के बाद कहा कि पाकिस्तान की शह पर ही यह हमला हुआ है। कश्मीर में पिछले दिनों पकड़े गए एक आतंकी ने खुलासा किया था कि ईद पर बड़े हमले की साजिश है। यह हमला इसी की कड़ी है। पत्रकारों से बात करते हुए निंभोरकर ने कहा कि पीओके में 17 आतंकी प्रशिक्षण कैंप चल रहे हैं। यहां भारी संख्या में युवाओं को आतंकी बनने का प्रशिक्षण दिया जा

पाकिस्तान से आए हमलावर आतंकियों ने सबूतों को नष्ट करने की भी कोशिश की। मुठभेड़ स्थल से कुछ जला हुआ सामान बरामद हुआ है। आशंका जताई जा रही है कि आतंकियों ने पाकिस्तान से जुड़े होने के कुछ सबूत जलाने की कोशिश के चलते ऐसा किया है। चारों आतंकी मिनी सचिवालय तक कैसे पहुंचे, इसकी जांच की जा रही है। पुलिस को शक है कि यहां तक पहुंचने में किसी स्थानीय व्यक्ति ने उनकी मदद की है। मारे गए आतंकियों के पास से चार एके -47, 16 मैगजीन, यूबीजीएल लांचर, एक यूबीजीएल ग्रेनेड, तीन पिट्ठू बैग, सूखे मावे, एक जीपीएस और

जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में मंगलवार को तीसरे दिन भी आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ जारी है। सुरक्षा बलों ने अब तक चार आतंकियों को ढेर कर दिया है जबकि एक से दो आतंकी अभी भी मिनी सचिवालय में छिपे हुए हैं। फिलहाल अभी दोनों ओर से फायरिंग रोक दी गई है। 9 पैरा बटालियन के कमांडो इमारत में घुसने की कोशिश कर रहे हैं। सचिवालय परिसर में आतंकी की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए ड्रोन की मदद ली जा रही है। सैन्य सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक मिनी सचिवालय में कई कमरे हैं। आतंकी अपनी लोकेशन

बकरीद से ठीक एक दिन पहले आतंकियों ने दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले के शेरबाग पुलिस चौकी पर ग्रेनेड हमला किया। इसमें एक नागरिक की मौत हो गई जबकि 10 घायल हो गए। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के अनुसार शाम को शेरबाग पुलिस चौकी पर आतंकियों ने ग्रेनेड ने हमला किया। इसमें बिलाल अहमद नामक नागरिक की मौत हो गई। वह हजरतबल मलकनाग का रहने वाला था।

जम्मू-कश्मीर में सेना की दो महत्वपूर्ण कोर के नए जीओसी जल्द ही पदभार संभालेंगे। सेना हेडक्वार्टर से जारी आदेश के अनुसार श्रीनगर और नगरोटा आधारित 15 व 16 कोर के जीओसी का तबादला किया गया है। श्रीनगर में मौजूद 15 कोर के जीओसी इन सी लेफ्टिनेंट जनरल एसके दुआ के स्थान पर लेफ्टिनेंट जनरल जेएस संधू नए जीओसी होंगे। जबकि नगरोटा में 16 कोर के जीओसी इन सी लेफ्टिनेंट जनरल आरआर निंभोरकर के स्थान पर लेफ्टिनेंट जनरल एके शर्मा पदभार संभालेंगे। जनरल आरआर निंभोरकर मास्टर जनरल आर्डिनेंस सेना हेडक्वार्टर में जाएंगे। जानकारी के अनुसार लेफ्टिनेंट जनरल पांचवीं गोरखा राइफल के आफिसर हैं।

घाटी में तनावपूर्ण माहौल के बीच सरकार ने 72 घंटे के लिए मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार की ओर से कहा गया है कि बकरीद पर कोई अप्रिय घटना न हो इसके चलते एहतियात के तौर पर यह फैसला लिया गया है। मोबाइल इंटरनेट पर घाटी में पहले से ही प्रतिबंध लागू है। अब ब्राडबैंड भी बंद कर दिया गया है। इस दौरान घाटी में केवल बीएसएनएल पोस्ट पेड सेवा ही चलेगी। वहीं सोमवार को भी घाटी के कई इलाकों में हिंसा हुई। कई जगह सुरक्षा बलों पर पथराव किया गया। इसके चलते सुरक्षा बलों की ओर

जम्मू-कश्मीर में बकरीद पर आतंकी खतरे और हिंसा के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहे। जम्मू और श्रीनगर दोनों ही संभागों में संगीनों के साये में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नमाज अता की। जम्मू के रेजीडेंसी रोड स्थित ईदगाह में मंगलवार सुबह बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हुए और नमाज अता की। इस दौरान सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे। इसके साथ ही पुलिस विभाग के आला अधिकारी और कई जनप्रतिनिध मौजूद थे। वहीं दूसरी ओर कश्मीर घाटी में भी लोगों ने कड़ी सुरक्षा के बीच नमाज अता की। इस दौरान सुरक्षा बलों ने हेलीकाप्टर और ड्रोन की मदद से

राज्य में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले (बीपीएल) परिवारों को नए वर्ष का तोहफा देने की तैयारी कर ली गई है। जनवरी 2017 से राज्य के 7.36 बीपीएल लाख परिवारों को मुफ्त बिजली मिलेगी। सरकार नए वर्ष में बीपीएल परिवारों को निर्धारित किराया माफ करने के साथ ही तीस यूनिट मुफ्त बिजली देने का निर्णय किया है। पहले बजट में इसका प्रवाधान रखा गया था, जिसे लागू करने के लिए व्यापक योजना तैयार कर ली गई है। इस योजना का लाभ केवल उन्हीं परिवारों को मिलेगा जिन्होंने बिजली विभाग से रजिस्टर कनेक्शन ले रखे हैं।