अंबाला कैंट के सिविल अस्पताल में डिलीवरी के बाद महिला की मौत हो गई, जिसके बाद महिला के परिजनों ने अस्पताल परिसर में जोरदार हंगामा किया। परिवारवालों ने महिला की मौत का आरोप डॉक्टर्स पर लगाया है, उनका कहना है कि डॉक्टर्स की लापरवाही की वजह से महिला की मौत हुई है। हंगामे की खबर मिलते ही सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉक्टर सतीश मौके पर पहुंचे, और गुस्साए परिजनों का शांत करवाने की कोशिश की, लेकिन वो नहीं माने,,जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर लोगों को शांत करवाया। बाद में पांच डॉक्टरों के पैनल ने महिला के शव का

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल आज करनाल के दौरे पर हैं. इस दौरान सीएम करनाल में कई कार्यक्रमों में शामिल हुए. पर्यावरण दिवस के मौके पर करनाल में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने खुद गलियों में झाड़ू लगाकर स्वच्छता अभियान की शुरुआत की और लोगों को आस-पास सफाई रखने का संदेश दिया.. इस दौरान सीएम ने नगर निगम के सफाई गाड़ियों को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. मुख्यमंत्री ने अपने वार्ड को साफ सुथरा रखने वाले पार्षदों को भी सम्मानित किया और लोगों को डस्टबिन वितरित किए. इसके बाद सीएम ने शहर के लोगों को अपने आस-पास स्वच्छ रखने की शपथ

मानेसर लैंड रिलीज मामले गुरु ग्राम के एडिशनल चीफ मजिस्ट्रेट प्रशांत राणा ने पंचकूला निवासी रविंद्र कुमार की उस अर्जी को खारिज कर दिया है, जिसमें उसने तत्कालीन पुलिस कमिश्नर नवदीप सिंह विर्क पर तथ्य छिपाकर मामला जांच के लिए सीबीआई को दिए जाने की सिफारिश की थी. इससे पहले कांग्रेस के करीब 12 विधायकों ने भी कुछ दिन पहले ही गृह विभाग के पूर्व सचिव के पत्र और एक अखबार में छपी खबर के हवाले से विर्क के साथ-साथ सरकार पर भी तथ्य छिपाकर मानेसर मामले की सीबीआई जांच कराए जाने के आरोप लगाए थे. मानेसर लैंड रिलीज मामले में

हरियाणा के कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने अंबाला के नवनिर्मित सिविल हॉस्पिटल का औचक निरीक्षण किया. निरीक्षण की सूचना मिलते ही सभी अधिकारी हड़बड़ाहट में हॉस्पिटल पहुंच गए, जहां अनिल विज ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए जल्द ही आपातकालीन विभाग की बिल्डिंग को शिफ्ट करने के आदेश दिए. पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने अंबाला नगर निगम पर भी बयान दिया. उन्होंने कहा है कि अंबाला नगर निगम को भंग किया जा सकता है. क्योंकि लोगों को फायदे की जगह नुकसान हो रहा है. निगम के वार्ड बड़े होने की वजह से पार्षद अपना ध्यान विकास कार्यों पर नहीं दे

फरीदाबाद के मुंजेड़ी गांव में स्कूल अपग्रेडेशन की मांग को लेकर 9 दिनों से धरने पर बैठी तीन छात्राओं की तबीयत बिगड़ गई. जिन्हें गंभीर हालत के बाद बादशाह खान अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जब छात्राओं को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस आई तो उन्हें अस्पताल जाने से इनकार कर दिया, लेकिन ज्यादा तबीयत बिगड़ जाने से उन्हें जबरदस्ती अस्पताल में भर्ती कराया गया.  वहीं छात्राओं के धरने को समर्थन देने के लिए कांग्रेस विधायक ललित नागर भी पहुंचे और प्रदेश सरकार पर निशाना साधा.

स्कूल अपग्रेडेशन के मामले में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि जो स्कूल नियमों को पूरा नहीं करते हैं वो अपग्रेड नहीं हुए हैं. उन्होंने कहा कि हर साल स्कूलों को अपग्रेड किया जाता है जो स्कूल पहले से लिस्ट में थे उन्हें ही अपग्रेड किया गया है, वहीं टीचरों की भर्ती के मामले में मनोहर लाल ने कहा कि अब टीचरों की समस्या जल्द ही दूर हो जाएगी.  

जम्मू कश्मीर में आतंकियों की फंडिंग का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा। ऐसे में राष्ट्रीय जांच सुरक्षा एजेंसी पूरे देश में आतंकवाद के जड़ को खोजने में लग गई है और इसी तलाश में एजेंसी शनिवार को सोनीपत भी पहुंची। राष्ट्रीय जांच सुरक्षा एजेंसी (NIA) ने फंडिंग के मामले में सोनीपत में की छापेमारी की। एजेंसी को शक था कि सबोली गांव के पास प्रभु कोल्ड स्टोर पर कुछ संदिग्ध क्रियाकलाप हो रहा है जिसके चलते एनआईए की टीम ने इस कोल्ड स्टोर पर छापेमारी की। एजेंसी को शक है कि दिल्ली-हरियाणा के कुछ व्यापारियों की मदद से पैसा कश्मीर

सोनीपत के नाथूपुरा गांव में स्थित गत्ता फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। आग लगने की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाने की कोशिश की, लेकिन तबतक आग लगने से लाखों का सामान जलकर राख हो गया। आग लगने के कारण का भी अब तक खुलासा नहीं हो पाया है।

पानीपत के नूरपुर गांव में ग्रामीणों ने सरपंच के साथ मिलकर शराब के ठेका खुलने का विरोध किया और कर्मचारियों को बाहर निकालकर ठेके पर ताला लगा दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने विभाग और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोगों का कहना है कि, शराब का ठेका खुलने से गांव का माहौल खराब हुआ है और युवा वर्ग भी नशे की लत में पड़ गया है। उधर, प्रशासन ने इस मामले में कार्रवाई करने की बात कही है।

ऐलनाबाद की रहने वाली एक रेप पीड़ित ने इंसाफ मिलता न देख जहर खाकर खुदकुशी करने की कोशिश की। पीड़त को उपचार के लिए सिरसा के अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसका इलाज जारी है। वहीं, पीड़त के परिजनों ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है, जबकि दो अन्य आरोपी को जांच से पहले ही निर्दाेष साबित कर उसे छोड़ दिया। पीड़ित ने इसकी शिकायत सीएम विंडो में की थी। उधर, पुलिस का कहना है कि मामले में निष्पक्ष जांच हुई है।