सोनीपत में नगर निगम ने अवैध कब्जों पर कार्रवाई करते हुए राई गांव से 20 अवैध कब्जों को हटवाया। इसमें 15  दुकान और पांच मकानों को निगम ने हटवाया। इस दौरान प्रशासनिक अधिकारियों और भारी पुलिस बल मौजूद था। इससे पहले निगम ने सभी को नोटिस जारी किया था। नगर निगम की टीम गन्नोर एसडीएम सुरेंद्र सिंह के नेतृत्व में अवैध कब्जा हटाने पहुंची। जेसीबी लेकर पहुंची टीम ने करीब ढाई घंटे तक चली कार्रवाई में पंद्रह दुकानों और पांच मकानों को हटाया। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए महिला पुलिसकर्मियों के साथ भारी पुलिस बल भी मौजूद था।

यमुनानगर में दादूपुर नलवी नहर में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि जगाधरी के भटली गांव के रहने वाले दो बच्चे साहिल और हरि प्रसाद अपने घर के पास ही दादूपुर नलवी नहर में नहाने गए थे। इसी दौरान दोनों अचानकर डूब गए। उन्हें डूबता देख किनारे पर खड़े एक युवक ने शोर मचाया, जिसके बाद लोग पहुंचे और बच्चों को बाहर निकाला, लेकिन तब तक दोनों ने तम तोड़ दिया। वहीं, डूबने की सूचना मिलने पर प्रशासन और पुलिस पदाधिकारी मौके पर पुहंचे और घटना की जानकारी ली। बताया जा रहा है

फरीदाबाद के सेक्टर-7 में कार सवार छह बदमाशों ने केला व्यापारी के साथ मारपीट कर 17 लाख रुपए लूट लिए। भगत सिंह कॉलोनी निवासी रवि कुमार केला व्यापारी हैं। वो आशाराम नाम के केला व्यापारी को पैसे देने के लिए स्कूटी पर सेक्टर-8 जा रहे थे। रास्ते में एक कार ने स्कूटी को टक्कर मार दी। इस दौरान कार सवार दो युवक उतरे और फोन के साथ-साथ रुपयों से भरा बैग छीन कर फरार हो गए। व्यापारी ने बताया कि बैग में 17 लाख रुपए थे। वहीं, पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

घरौंडा की वाल्मीकि बस्ती में दो गुटों में किसी बात को लेकर हुई मामूली कहासुनी खूनी संघर्ष में बदल गई। इस दौरान एक गुट ने दूसरे गुट पर लाठी-डंडों और तेजधार हथियार से हमला किया। इसमें एक गुट के चार लोग बुरी तरह से जख्मी हो गए। इनको उपचार के लिए स्थानीय सीएचसी में भर्ती करवाया गया। घायलों में तीन लोगों की हालत गंभीर बनी हुए जिसके बाद उन्हें करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया गया। मामले की सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पूरी बस्ती में तनाव की स्थिति बनी हुई है।

अंबाला अंबाला का अपोलो सर्कस सवालों के घेरे में है. प्रशासन की टीम ने सर्कस में छापेमारी कर आठ नाबालिग लड़कियों को छुड़वाया है,जिन्हें सर्कस में कम मेहनताने पर जबरदस्ती रखा गया था. दरअसल टीम को सूचना मिली थी कि अंबाला सर्कस में नाबालिग लड़कियों से जबरदस्ती काम करवाया जा रहा है और इसी बात को संज्ञान में लेते हुए प्रशासन ने अपोलो सर्कस पर छापा मारा और 8 लड़कियों को सर्कस के चगुंल से बाहर निकाला.

बरवाला जाको राखे साइंया, मार सके न कोई। यह कहावत आज उस समय सही साबित हुई, जब एक ट्रक अनियंत्रित होकर पुल की रेलिंग को तोड़ता हुआ टांगरी नदी में जा गिरा और हादसे में ट्रक चालक बाल-बाल बच गया। शनिवार को ट्रक चालक राम सिंह पुत्र बालक राम ट्रक लेकर राष्ट्रीय राजमार्ग 73 पर बरवाला की ओर से मौली की तरफ जा रहा था। ट्रक में गांव खलियार जिला नालागढ़ से साबुन लोड़ किया गया था। जैसे ही यह टांगरी नदी पुल के पास पहुंचा तो अचानक नियंत्रण बिगड़ गया और पुल की रेलिंग तोड़ता हुआ नदी में जा गिरा। हादसे में

फरीदाबाद के बादशाह खान अस्पताल में मारपीट की तस्वीरें सीसीटीवी में कैद हुई है। अजरौंदा गांव में मामूली कहसुनी के बाद दो पक्षों में हिंसक झड़प हो गई। हमले के बाद घायल पक्ष अपना इलाज कराने के लिए अस्पताल में पहुंचा, इसी दौरान दूसरा पक्ष भी वहां पहुंच गया और उन्होंने डंडों से हमला कर दिया। मारपीट की पूरी वारदात अस्पताल में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई। फिलहाल, पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। देखें वीडियो

यमुनानगर में चोर की पिटाई की तस्वीरें मोबाइल में कैद हुई है। दरअसल,नगर निगम के दफ्तर में एक शख्स अपनी बेटी के दस्तावेज साइन कराने के लिए पहुंचा था और लाइन में खड़ा होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहा था, तभी लाइन में पीछे खड़े एक युवक ने पॉकेट मारने की कोशिश क। उस व्यक्ति की नजर आरोपी पर पड़ गई और उसने चोर की पिटाई शुरू कर दी। ये पूरा वाक्या किसी ने अपने मोबाइल में कैद कर लिया और ये वीडियो वायरल हो रहा है। देखें वीडियो

गोहाना पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह ने बूध और मंडल स्तर के कार्यकर्ताओं की मीटिंग ली और सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने कहा खट्टर सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि पहली बार प्रदेश में इमानदार सरकार बनी जो प्रदेश में अच्छा काम कर रही है। विपक्ष पर हमला बोलते हुए अरुण सिंह ने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं बचा हैं। विपक्ष सिर्फ गुमराह करने की कोशिश कर रहा है।

हरियाणा में निर्धारित संख्या से ज्यादा मंत्री बनाए जाने के मामले में शुक्रवार को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में केंद्र सरकार की ओर से एडिशनल सॉलिसिटर जनरल सत्यपाल जैन ने पक्ष रखा। उन्होंने कोर्ट से कहा कि केंद्र सरकार ने सभी पहुलुओं पर गौर करने के बाद पाया है कि हरियाणा में मंत्रियों की संख्या चोदह होनी चाहिए। जिसके बाद कोर्ट ने केंद्र सरकार के इस पक्ष पर निर्देश दिए हैं कि अगली सुनवाई में केंद्र सरकार किसी जिम्मेदार अधिकारी का हलफनामा सौंपे। दरअसल, वकील जगमोहन भट्टी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की हुई है