क्रिकेटर युवराज सिंह को पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट से मायूसी मिली है. युवराज ने कोर्ट में अर्जी देकर कहा था कि उनके छोटे भाई जोरावर सिंह के वैवाहिक विवाद पर मीडिया में समाचार प्रकाशित किए जाने पर रोक लगाई जाए. इस याचिका को पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया है. याचिका पर सुनवाई के बाद जस्टिस राजन गुप्ता ने कहा कि इसका कोई औचित्य नहीं है, इसलिए याचिका को खारिज किया जाता है. युवराज सिंह ने जून 2015 में यह याचिका दायर की थी. तब से अब तक 19 सुनवाई हुई, लेकिन हाई कोर्ट ने किसी

चंडीगढ़ में भारतीय जनता युवा मोर्चा ने कांग्रेस के राष्ट्रीय नेताओं मनीष तिवारी और दिग्विजय चौटाला के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया. और कांग्रेस नेताओं द्वारा ट्विटर पर पीएम मोदी के बारे में विवादित टिप्पणी करने का कड़ा विरोध किया. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कांग्रेस भवन का घेराव करने की कोशिश की.लेकिन पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही बैरीकेड लगाकर रोक लिया. और पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को जनता ने नकार दिया है, इसलिए इनके नेता बेचैन हैं, जिस वजह से इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं.

चंडीगढ़ के पंजाब भवन में पंजाब कैबिनेट की सब कमेटी ने किसान यूनियनों के साथ बैठक हुई.बैठक में कैबिनेट मनप्रीत बादल और नवजोत सिंह सिद्धू की मौजूदगी में हुई.इस बैठक में किसानों की समस्याओं पर चर्चा की गई. बैठक के बाद पंजाब कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि कैबिनेट सब कमेटी के सदस्यों ने कर्ज माफी को लेकर किसानों से बात की है और उनकी समस्याओं पर भी विचार किया गया है.  

ब्लू व्हेल गेम को लेकर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट सख्त हो गया है। ब्लू व्हेल गेम मामले में सुनवाई के बाद कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है। जानकारी के अनुसार ब्लू व्हेल गेम को लेकर पंजाब में सामने आ रहे मामलों के चलते कोर्ट ने एडवोकेट हितेश कप्लीश की याचिका पर सुनवाई करते हुए केंद्र के साथ-साथ पंजाब हरियाणा और चंडीगढ़ को भी नोटिस किया जारी किया है।  हाईकोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार उन सर्च इंजनज पर रोक लगाए जहां से गेम डाऊनलोड होती है। इस मामले पर अगली सुनवाई 20 सितंबर रखी गई है। साथ ही याचिकाकर्ता

चंडीगढ़ पुलिस का एक ऐसा वीडियो वायरल हुआ है.जिसमें कानून के रखवाले ही नियमों की धज्जियां उड़ाते नजर आए. दरअसल, एक पुलिस कर्मी आधा हेलमेट पहने और फोन पर बात करते हुए बाइक चला रहा था. इसी दौरान एक शख्स ने पुलिस कर्मी की इस हरकत को अपने मोबाइल में कैद कर लिया और पुलिस कर्मी को ट्रैफिक नियम फॉलो करने की बात कही, जिससे पुलिस कर्मी युवक पर भड़क गया और उसे युवक को थप्पड़ रसीद कर दिया. पुलिस कर्मी की ये हरकत भी मोबाइल में कैद हो गई वहीं अब पुलिस कर्मी की गुंडागर्दी और ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन

चंडीगढ़ खुद को देवी का अवतार बताने वालीं राधे मां की मुश्किल बढ़ गई है। पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने राधे मां के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया है। अदालत ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए पंजाब पुलिस को आदेश दिया है कि उनके खिलाफ केस दर्ज किया जाए। हाई कोर्ट ने पंजाब पुलिस को यह निर्देश फगवाड़ा निवासी सुरिंदर मित्तल की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है। स्वघोषित धर्म गुरु राधे मां को इस मामले में दो साल पहले पंजाब पुलिस ने पूछताछ के लिए समन भेजा था। सुरिंदर ने अगस्त 2015 में पंजाब पुलिस से

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने सिरसा में डेरा सच्चा सौदा में सर्च ऑपरेशन को मंजूरी दे दी है. आपको बता दें कि हरियाणा सरकार ने सोमवार को याचिका दाखिल कर डेरे में सर्च ऑपरेशन की इजाजत मांगी थी, जिसपर कोर्ट ने मंगलवार को सुनवाई करते हुए डेरे में सर्च ऑपरेशन की मंजूरी  दी. पंजाब- हरियाणा हाईकोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा में सर्च ऑपरेशन के लिए कोर्ट कमिश्नर को नियुक्त किया है जिनकी निगरानी में डेरे में सर्च ऑपरेशन होगा. कोर्ट ने रिटायर्ड जज ऐ.के. एस पवार को कोर्ट कमिश्नर बनाया है. सूत्रों के मुताबिक सरकार डेरे में सर्च ऑपरेशन की वीडियो रिकॉर्डिंग भी करवा सकती है।  

चंडीगढ़: हरियाणा में जाट आरक्षण पर रोक जारी रहेगी. जाटों सहित छह जातियों को पिछड़े वर्ग के तहत दिए गए आरक्षण के लाभ पर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है.  हाईकोर्ट ने नेशनल बैकवर्ड कमिशन को 2018 तक इस मामले पर रिपोर्ट देने को कहा है कि यह सही है या नहीं. याचिका पक्ष की तरफ से हाईकोर्ट में हरियाणा शिक्षा विभाग के आंकड़े कोर्ट में पेश करते हुए कहा गया था कि अलग अलग पदों पर जाटों का प्रतिनिधित्व 30 से 56 प्रतिशत है. वहीं, हरियाणा सरकार की तरफ से कहा गया कि याचिका के आंकड़े गलत है. जाति के

डेरे के समर्थक रहे भूपिंदर सिंह ने चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बाबा राम रहीम पर कई आरोप लगाए। उन्होंने बताया कि डेरा सच्चा सौदा में करीब 15 हजार प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड हैं और उन सब के पास भारी मात्रा में हथियार हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि बाबा की गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत को एक साल पहले डेरा प्रभारी बनाए जाने से राम रहीम के परिवार में झगड़ा चल रहा था।

डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दस साल की सजा सुनाने वाले रीयल हीरो सीबीआइ के जज जगदीप सिंह हवाई मार्ग के जरिये सुनारिया जेल पहुंचे और अपना अभूतपूर्व फैसला सुनाने के बाद कड़ी सुरक्षा में हवाई मार्ग के जरिये ही वापस आ गए। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के निर्देश पर सीबीआई जज को कड़ी सुरक्षा में रखा गया था। भविष्य में किसी भी तरह की अनहोनी को टालने के लिए न्यायाधीश को जेड प्लस सिक्योरिटी देने पर विचार किया जा रहा है। सीबीआइ जज जगदीप सिंह लोहान के सुनारिया जाने से लेकर वापसी तक न केवल कड़े सिक्योरिटी