बिलासपुर में फिजियोथैरेपिस्ट ने पंखे से फंदा लगाकर खुदकुशी की

बिलासपुर

सदर पुलिस थाना के तहत बुधवार को एक युवती ने पंखे से फंदा लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली। पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। युवती द्वारा उठाए गए इस कदम से परिवार में शोक की लहर दौड़ गई है। युवती की पहचान ज्योति ठाकुर पुत्री राम चंद ठाकुर निवासी कृष्णानगर हमीरपुर के रूप में हुई है। हालांकि कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

युवती ने दुपट्टे से फंदा लगाया। साथ ही एक प्लास्टिक की कुर्सी भी उसके एक पांव के पास थी। साथ ही उसका लैपटॉप भी कमरे में ऑन पड़ा था। वहीं, कमरे में एक शराब की बोतल भी थी। जो कि थोड़ी खाली थी और खुली हुई थी, लेकिन अभी तक इस बात का पता नहीं चल पाया है कि युवती ने शराब पी थी या नहीं। युवती की बाजू पर कुछ निशान भी थे, लेकिन यह निशान अभी के हैं या फिर पुराने इसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। युवती काफी समय से माइग्रेन की मरीज थी और दवा खाती थी।

युवती पिछले पांच वर्ष से बिलासपुर शहर के रौड़ा सेक्टर में किराये के मकान में अकेली रहती थी। वह क्षेत्रीय अस्तपाल बिलासपुर में बतौर फिजियोथैरेपिस्ट कार्यरत थी। मंगलवार शाम को रोजाना की तरह अस्पताल से काम खत्म करके युवती किराये के मकान में पहुंची, लेकिन बुधवार सुबह जब 10 बजे तक वह नहीं उठी, तो

साथ के कमरे में रह रहे मकान मालिक को शंका हुई। मकान मालिक की पत्नी ने युवती के कमरे का दरवाजा खटखटाया, लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने इसकी सूचना सदर पुलिस थाना में दी। साथ ही इसके बारे में वार्ड पार्षद को भी जानकारी दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा खोला, तो युवती पंखे से फंदा लगाकर लटकी हुई थी।

पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। मकान मालिक के मुताबिक वह किसी से अधिक बात नहीं करती थी। युवती द्वारा फंदा लगाने के कारणों का अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया गया है। पुलिस ने युवती के माता-पिता को सूचित कर दिया है। मामले की जांच के लिए मंडी से फॉरेंसिक टीम भी पहुंच गई है। उधर, सदर पुलिस थाना के प्रभारी रामदास ने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद  भी कुछ कहा जा सकता है।

मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी घटना की सूचना मिलते ही पुलिस चौकी प्रभारी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने मकान मालिक के बयान कलमबद्ध किए। इसके बाद सदर थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे। काफी देर तक जांच करने के बाद पुलिस अधीक्षक अंजुम आरा भी वहां पहुंची। उन्होंने मौके का जायजा लिया। उनके जाने के बाद एडीएम विनय कुमार मौके पर पहुंचे। उन्होंने युवती के पिता व मकान मालिक से मामले को लेकर बातचीत की तथा युवती के बारे में जानकारी ली।

Share With:
Rate This Article