भारत का सबसे ऊंचा तिरंगा झंडा वाघा-अटारी बॉर्डर पर चार महीने बाद फिर से फहराया गया। देश के सबसे ऊंचे इस तिरंगे की लंबाई 360 फुट है। कहा जा रहा है कि इस ध्वज के बार-बार फटने के कारण चार महीने तक कोई नया झंडा नहीं लगाया गया था। अब भारत के इस सबसे ऊंचे ध्वज को ऐतिहासिक मौकों पर फहराया जाएगा। आपको बता दें कि इस झंडे का वजन 55 टन है, वाघा अटारी बॉर्डर पर इसे स्थापित करने के पूरे प्रोजेक्ट में करीब साढ़े तीन करोड़ रुपए का खर्च आया है। बीएसएफ के सहयोग से लहराए गए इस

बहादुरगढ़ स्थित एक फैक्ट्री में काम के दौरान करंट लगने से एक कर्मचारी की मौत हो गई। बेटे की मौत की सूचना पर सदमे में पिता की भी मौत हो गई। एक साथ दो मौतों से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया। जानकारी के मुताबिक बराही गांव का रहने वाला रणजीत नाम का एक व्यक्ति एक फैक्ट्री में इलेक्ट्रिशियन का काम करता था। जहां करंट लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन डॉक्ट्रस ने उसे मृत घोषित कर दिया। हादसे की सूचना जैसी ही पिता को मिली तो

गुरदासपुर जिले से गुजरते दरिया ब्यास और रावी में लगातार पानी का स्तर बढ़ता जा रहा है। दरिया ब्यास में पानी का स्तर बढ़ने के बाद किसानों द्वारा दरिया के किनारे बिजाई की गई गन्ने की फसल को भी अपनी चपेट में ले लिया। दरिया में अचानक बढ़े पानी से जहां फसलें पानी में डूब गई। वहीं संभावित बाढ़ के खतरे के चलते दरिया ब्यास के किनारे बसे फत्तू बरकतां, मूल्यांवाल, भसवाल, दलेरपुर खेड़ा समेत कई गावों के लोगों में डर का माहौल पैदा हो गया है। जबकि संभावित बाढ़ के खतरे को भांपते हुए कुछ परिवारों ने पलायन शुरू

जगाधरी के न्यू जैन नगर से लापता सोनू डिंपल नाम का व्यक्ति तीन दिन बाद संदिग्ध हालात में मिला, जिसके बाद उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती करवाया गया, लेकिन इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया. जानकारी के मुताबिक, सोनी सिनेमा हाल के पास गंभीर हालत में मिला तुरंत परिजन उसे अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां से सोनू को पीजीआई रेफर कर दिया गया. रास्ते में उसकी मौत हो गई. मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया है कि सोनू को कुछ लोगों ने अगवा किया हुआ था और उन्होंने ही उसे जहरीला पदार्थ दिया था. ये बात पीजीआई रेफर करने से पहले

कैप्टन सरकार ने पंजाब में निगम चुनाव इसी वर्ष करवाने की तैयारी शुरू कर दी है। यह चुनाव नवम्बर-दिसम्बर में होने के संकेत मिले हैं। स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि नवम्बर के आसपास चुनाव होंगे। उन्होंने कहा कि यह चुनाव कांग्रेस विकास के एजैंडे के आधार पर ही लड़ेगी। जानकारी मिली है कि कांग्रेस ने निगम चुनाव की तैयारियां तेज कर दी हैं। इसके तहत 14 अगस्त को अमृतसर नगर निगम क्षेत्र के लिए बड़ी घोषणा होगी जो खुद मुख्यमंत्री कै. अमरेंद्र सिंह करेंगे। अमृतसर के विकास के लिए विशेष प्लान की घोषणा

हिमाचल प्रदेश के मंडी में भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 46 हो गई है। ये सभी मृतक उन दो रोडवेज की बसों के यात्री हैं जो भूस्खलन की चपेट में आ गई थी। वहीं, मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। यह हादसा शनिवार की देर रात हुआ। एक बस चंबा से मनाली जा रही थी, जबकि दूसरी मनाली से जम्मू के कटरा के सफर पर थी। रात होने के कारण राहत और बचाव का काम सुबह तक के लिए रोक दिया गया है। बताया जा रहा है कि यह हादसा तब हुआ जब दोनों बसें

स्वतंत्रता दिवस को लेकर जम्मू-कश्मीर में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया। हर गांव में पुलिस नाके लगा कर वाहनों और लोगों की जांच कर रही है। पूरी तसल्ली के बाद ही उन्हें आगे जाने दिया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि गत आठ माह से पाक सेना द्वारा सीमा पर आए दिन सीज फायर का उल्लंघन किया जा रहा है, जिसके चलते हालात तनावपूर्ण हैं। इसके मद्देनजर सेना और पुलिस द्वारा सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। नौशहरा आने वाले हर वाहन को जांच के बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है। सीमाओं में जो पुलिस चैकियां हैं

बठिंडा के परशुराम नगर में एक व्यक्ति ने मानसिक रूप से कमजोर बेटी की हत्या कर दी और बाद में फांसी लगाकर आत्महत्या कर दी। मृतक का नाम चरणजीत था। चरणजीत ने मरने से पहले एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। पुलिस के मुताबिक सुसाइड नोट में चरणजीत ने अपने दो भाइयों और भाभियों को जिम्मेदार ठहराया है। बताया जा रहा है कि, चरणजीत के परिवारवाले अकसर उनकी बेटी के दिव्यांग होने पर उसे ताने मारते थे, जिससे वो काफी तंग आ चुका था। आखिरकार उसने ये भयानक कदम उठाया। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच

देश की आजादी की 70वीं सालगिरह नजदीक है. हर साल की तरह इस साल भी राजधानी दिल्ली को 15 अगस्त से पहले एक ऐसे किले में तब्दील करने की तैयारी है, जिसे कोई भेद ना सके. सुरक्षा के तमाम इंतजामों के साथ पुलिस दिल्ली की दीवारों पर मोस्ट वांटेड आतंकियों के पोस्टर भी चस्पा कर रही है. दिल्ली पुलिस ने राजधानी के सभी मुख्य बाजारों, बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और भीड़-भाड़ वाली तमाम जगहों पर ये पोस्टर लगाएं हैं. दिल्ली पुलिस हर साल मोस्ट वांटेड आतंकियों के पोस्टर लगाती है ताकि लोग सतर्क रहें और इनके बारे में किसी तरह की

दिल्ली में तीन दिन पहले किडनैप हुए एक नाबालिग बच्चे को पुलिस ने ढूंढ निकाला. एक रिक्शा चालक ने बच्चे का अपहरण किया था. आरोपी बच्चे को बेचने की फिराक में था, लेकिन इससे पहले कि वह अपने मंसूबे में कामयाब हो पाता पुलिस ने उसे धर दबोचा. मामला दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके का है. अगवा किए गए बच्चे की उम्र लगभग 5 साल है. उसका परिवार गुड़गांव का रहने वाला है. बुधवार रात बच्चे का एक रिश्तेदार उसे पंजाबी बाग लेकर आया था. वहां उसने रिक्शा चालक विनोद और एक अन्य दोस्त के साथ मिलकर शराब पी. कुछ देर बाद