डेरा प्रमुख पर फैसले से पहले पंजाब-हरियाणा की सीमाएं सील, पंचकूला में जुटने शुरू हुए डेरा प्रेमी

चंडीगढ़

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ चल रहे साध्वी यौन शोषण मामले में 25 अगस्त फैसला आना है। फैसला पंचकूला सीबीआइ कोर्ट सुनाएगी। इसके मद्देनजर प्रशासन जहां पर्याप्त चौकसी बरत रहा है, वहीं डेरा प्रेमी पंचकूला में एकत्र होने शुरू हो गए हैं।

डेरा प्रेमी मंगलवार देर रात से शहर में धारा 144 लागू होने के बावजूद सेक्टर 23 स्थित नामचर्चा घर व आसपास के इलाके में डटे हैं। इनकी संख्या करीब 50 हजार से ज्यादा है। अभी डेरा प्रेमियों के आने का क्रम जारी है। डेरा प्रेमी न जुटें इसके लिए सीमाएं सील कर दी गई हैं। पंजाब के बठिंडा, मानसा, संगरूर, पटियाला व बरनाला को भी संवेदनशील घोषित किया गया है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ की सीमाएं सील कर धारा 144 लगा दी गई है। स्थिति पर नजर रखने के लिए ड्रोन व हेलीकॉप्टर से रेकी के निर्देश दिए गए हैं। चंडीगढ़ के सेक्टर 16 के क्रिकेट मैदान को अस्थायी जेल में बदला गया है। जरूरत पडऩे पर अन्य स्टेडियमों को भी अस्थायी जेल बनाया जा सकता है।

दूसरी ओर चंडीगढ़ व पंजाब में 641 अधिकारियों को मजिस्ट्रेट की शक्तियां दी गई हैै। इनमें सर्वाधिक 140 अधिकारी अमृतसर और 92 अधिकारी लुधियाना से हैैं। चंडीगढ़ में 21 अधिकारियों को यह शक्ति दी गई है। मंगलवार को पंजाब के विभिन्न जिलों में रैपिड एक्शन फोर्स, पुलिस व पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों ने फ्लैग मार्च निकाला। डीजीपी पंजाब सुरेश अरोड़ा ने बठिंडा-हरियाणा सीमा का जायजा लिया। मुख्यमंत्री कैप्टन अमङ्क्षरदर सिंह ने भी पुलिस अधिकारियों से बैठक कर उन्हें जरूरी निर्देश दिए।

पंचकूला के सेक्टर 23 में लोगों की बढ़ती संख्या का जायजा लेने के लिए डीसीपी अशोक कुमार मौके पर पहुंचे। उन्होंने डेरा प्रेमियों से शांति बनाए रखने की अपील की और कहा कि वह पुलिस को सहयोग दें। सेक्टर 23 से आने वाले रास्तों को भी डायवर्ट कर दिया गया है। जीरकपुर से पंचकूला आने वाले रास्ते पर पुलिस सभी ऑटो एवं वाहन चेककर रही है और डेरा प्रेमियों को वाहनों से उतारा जा रहा है, लेकिन डेरा प्रेमी वहां से पैदल ही नामचर्चा घर की तरफ कूच कर रहे हैं। डीसीपी ने कहा कि डेरा प्रमुख की पेशी को लेकर पुलिस एवं पैरामिलिट्री फोर्स सतर्क है।

डेरा प्रेमियों के पंचकूला पहुंचने की सूचना पर सार्वजनिक स्थलों पर पुलिस ने चेकिंग अभियान शुरू कर दिया है। वहीं पुलिस मुलाजिम किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए तैयार नज़र आ रहे हैं। सुरक्षा के लिहाज से डेरे के प्रभाव वाले विभिन्न जिलों में कभी भी इंटरनेट सेवा बंद की जा सकती है, ताकि संदेश का आदान-प्रदान हो सके। खुला पेट्रोल बेचने पर रोक लगाई जा चुकी है।

कानून व्यवस्था बिगड़ने के अंदेशे को लेकर पुलिस ने हरियाणा से लगते पंजाब-राजस्थान बॉर्डर को 30 अगस्त तक के लिए सील कर दिया है। बाॅर्डर के साथ-साथ जिले में कई प्रमुख स्थानों पर पुलिस नाके स्थापित किए गए हैं। जहां पर छह से आठ पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। जो वाहनों की चेकिंग भी कर रहे हैं।

Share With:
Rate This Article