छत्तीसगढ़: बीजेपी नेता की गौशाला में 200 गायों की मौत, गंभीर आरोप लगे

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में गोशाला में लगभग 200 गायों की मौत भूख से हो गई है. पुलिस ने गोशाला संचालक भाजपा नेता को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं जिला प्रशासन ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है. दुर्ग क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक दीपांशु काबरा ने बताया कि जिले के धमधा थानाक्षेत्र के अंतर्गत राजपुर गांव स्थित गोशाला में गायों की मृत्यु के मामले में पुलिस ने गोशाला संचालक हरीश वर्मा को गिरफ्तार कर लिया है. छत्तीसगढ़ राज्य गौसेवा आयोग की शिकायत पर यह कार्रवाई की गयी है. मुख्यमंत्री ने कहा कि गोशाला में भूख से गायों की मौत की जांच होगी. जांच में दोषी पाये जानेवाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी.

काबरा ने बताया कि वर्मा के खिलाफ छत्तीसगढ़ कृषक पशु परिरक्षण अधिनियम 2004 की धारा चार और छह तथा पशु क्रूरता निवारण अधिनियम-1960 की धारा 11 तथा भादवि की धारा 409 के तहत कार्रवाई की गयी है. आयोग के मुताबिक गोशाला में भारी अव्यवस्था थी. दुर्ग जिले के अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी संजय अग्रवाल ने बताया कि जिले के धमधा विकासखंड के अंतर्गत राजपुर गांव स्थित गोशाला में पिछले तीन दिनों में गायों की मौत हुई है. गोशाला में लगभग पांच सौ गौ वंशीय जानवर हैं.

अग्रवाल ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद पशु चिकित्सकों के दल को मामले की जांच के लिए भेजा गया है. वहीं, एसडीएम ने भी घटनास्थल का दौरा किया है. उन्होंने बताया कि घटना की जांच के बाद ही जानवरों की मौत के कारणों के बारे में जानकारी मिल सकेगी. गोशाला संचालक एवं जामुल नगर पालिका के उपाध्यक्ष हरीश वर्मा ने बताया कि इस महीने की 15 तारीख को क्षेत्र में तेज बारिश के कारण गोशाला की 90 फीट लंबी दीवार गिर गयी थी. इससे चोट लगने से पिछले तीन दिनों में 26 गायों की मौत हो गयी है. वहीं, कुछ गाय मुर्छित हैं. जिनका इलाज किया जा रहा है. वर्मा ने बताया कि पिछले एक साल से उन्हें गोशाला के लिए छत्तीसगढ़ राज्य गौसेवा आयोग से कोई भी अनुदान नहीं मिला है. अनुदान के लिए उन्होंने कई बार आयोग को पत्र भी लिखा है.

इधर, राज्य के मुख्य विपक्षी दल कांगेस ने आरोप लगाया है कि गायों की मौत भूख के कारण हुई है. छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आरपी सिंह ने कहा है कि उन्हें ग्रामीणों से जानकारी मिली है कि गायों की मौत चारा और पानी नहीं मिलने के कारण हुई है. ग्रामीणों के मुताबिक गोशाला में भारी अव्यवस्था है जिसके कारण लगभग तीन सौ गायों की मौत हुई है. कांग्रेस ने इस मामले की जांच की मांग की है.

इस बीच, मुख्यमंत्री ने कहा कि गोशाला में भूख से गायों की मौत की नये सिरे से जांच होगी. पशुपालन विभाग को सभी गोशालाओं का निरीक्षण करने का निर्देश दिया गया है. कुछ गोशालाओं की रिपोर्ट आयी है. कई में अनियमितता पायी गयी है. इसमें सरकारी मदद पाने और नहीं पानेवाले शामिल हैं. अव्यवस्था मिलने पर सभी के खिलाफ कार्रवाई होगी.

Share With:
Rate This Article