दिल्ली: 15 अगस्त से पहले पुलिस ने सड़कों पर चस्पा किए ‘मोस्ट वांटेड आतंकियों’ के पोस्टर

देश की आजादी की 70वीं सालगिरह नजदीक है. हर साल की तरह इस साल भी राजधानी दिल्ली को 15 अगस्त से पहले एक ऐसे किले में तब्दील करने की तैयारी है, जिसे कोई भेद ना सके. सुरक्षा के तमाम इंतजामों के साथ पुलिस दिल्ली की दीवारों पर मोस्ट वांटेड आतंकियों के पोस्टर भी चस्पा कर रही है.

दिल्ली पुलिस ने राजधानी के सभी मुख्य बाजारों, बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और भीड़-भाड़ वाली तमाम जगहों पर ये पोस्टर लगाएं हैं. दिल्ली पुलिस हर साल मोस्ट वांटेड आतंकियों के पोस्टर लगाती है ताकि लोग सतर्क रहें और इनके बारे में किसी तरह की जानकारी मिलते ही उन्हें सूचित करें.

पोस्टर में इंडियन मुजाहिद्दीन के कर्नाटक और महाराष्ट्र मॉड्यूल के आतंकियों की तस्वीरें हैं. पोस्टर में बब्बर खालसा अंतरराष्ट्रीय के आतंकी भी नजर आ रहें हैं. वहीं इन पोस्टरों में अलकायदा इंडियन सब-कॉंटिनेंट के मॉडयूल के आतंकियों की भी तस्वीरें हैं.

इनमें से एक तस्वीर अलकायदा इंडियन सब-कॉंटिनेंट के आतंकी जीशान की भी है. जीशान को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 9 अगस्त की शाम इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया था. जीशान सऊदी में रह रहा था और वहां से वह भारत के नौजवानों को जेहाद के रास्ते पर चलने के लिए उकसा रहा था.

अलकायदा इंडियन सब-कॉंटिनेंट में ज्यादा से ज्यादा जेहादियों की भर्ती करना ही जीशान का काम था. जीशान के बारे में पता चलते ही सऊदी में उसे गिरफ्तार कर भारत डीपोर्ट कर दिया गया था. पोस्टर बनवाते वक्त शायद पुलिस ने इस पर ध्यान नहीं दिया और जीशान की तस्वीर भी मोस्ट वांटेड की लिस्ट में चिपकी रह गई.

इससे ये भी साफ हो गया कि दिल्ली पुलिस इस काम को कितने तरीके से करती है. वहीं पुलिस ने इन पोस्टरों के नीचे यह भी लिखा है कि अगर कोई भी शख्स इनमें से किसी की भी जानकारी देगा तो उसकी पहचान गुप्त रखी जाएगी और साथ में उसे इनाम भी दिया जाएगा.

 

Share With:
Rate This Article