दुनिया से परमाणु हथियार खत्म करना चाहते हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

वाशिंगटन

अमेरिकी सेना को अत्याधुनिक करने के लिए रक्षा बजट में अरबों डॉलर की वृद्धि करने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पूरी दुनिया से परमाणु हथियार खत्म करना चाहते हैं। राष्ट्रपति बनने के बाद से ही ट्रंप अमेरिका के परमाणु जखीरे को बढ़ाने में जुटे हैं। ऐसे में उनका ताजा बयान चौंकाने वाला है।

न्यूजर्सी में एक जनसभा में ट्रंप ने कहा, ‘मैं दुनिया को परमाणु विहीन देखना पसंद करूंगा। मैं जानता हूं कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने जलवायु परिवर्तन को सबसे बड़ा खतरा बताया था। मैं इससे पूरी तरह असहमत हूं। मैं साधारण शब्दों में कहता हूं कि परमाणु हथियार पूरी दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं। मैं चाहूंगा कि अमेरिका, रूस, चीन, पाकिस्तान और अन्य परमाणु हथियार संपन्न देश इसे खत्म कर दें।’ ट्रंप ने हालांकि स्पष्ट किया कि परमाणु हथियार खत्म होने तक अमेरिका सबसे ताकतवर परमाणु हथियार संपन्न देश बना रहेगा।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति पद संभालने के बाद उन्होंने अपने सैन्य प्रमुखों को सबसे पहला निर्देश परमाणु हथियार के जखीरे को दुनिया का सबसे बड़ा और बेहतरीन बनाने दिया था। ट्रंप ने कहा, ‘मेरी सरकार ने परमाणु क्षमता बढ़ाने के लिए काफी पैसा खर्च किया, वक्त दिया और प्रयास किया है, ताकि इस मामले में दुनियाभर में अमेरिका के सामने कोई न टिके। यहां तक कि उत्तर कोरिया भी अमेरिका को धमकी देने की स्थिति में न हो।’

रूस का किया धन्यवाद

ट्रंप ने अमेरिकी दूतावास के 755 कर्मचारियों को निष्कासित करने के लिए व्लादिमीर पुतिन का धन्यवाद किया है। उन्होंने कहा कि वह दूतावास में पेरोल पर काम करने वालों की संख्या घटाने के बारे में सोच रहे थे, लेकिन रूस ने पहले ही उन्हें निकाल दिया। उन्हें वापस भेजने की कोई वजह नहीं है।

Share With:
Rate This Article