हिमाचल में मौसम विभाग ने तीन दिन तक भारी बारिश की दी चेतावनी

शिमला

प्रदेश में लोगों को अभी बारिश से राहत मिलने के आसार नहीं हैं। मौसम विभाग ने आगामी तीन दिन तक भारी बारिश की चेतावनी दी है और इस संबंध में अलर्ट जारी कर दिया है। पिछले 24 घंटों के दौरान कांगड़ा, सिरमौर व बिलासपुर जिला में कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। सबसे अधिक 118 मिलीमीटर बारिश धर्मशाला में रिकॉर्ड की गई।

मंडी जिला के हणोगी माता मंदिर के पास चट्टानें गिरने से दो दुकानें क्षतिग्रस्त हो गईं, जबकि कई लोग चपेट में आने से बाल-बाल बचे। नेरचौक-कलखर-ऊना सुपर हाईवे तीन दिन बाद भी बहाल नहीं हो पाया है। मनाली-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर नौ मील (पंडोह) के समीप बुधवार सुबह एक टैंपो पर चट्टान गिरने से करीब 600 मुर्गे मर गए, जबकि जीप में सवार तीन लोगों में से दो घायल हो गए। कुल्लू जिला के आनी उपमंडल की पोखरी पंचायत के चनास गांव में ढंगा गिरने से चार मंजिला मकान गिर गया। मलबे में दबने से एक गाय मर गई। जिला चंबा में बारिश से भारी नुकसान हुआ है। उपमंडल डलहौजी के संधारा में मंगलवार रात पहाड़ी से मलबा घरों में घुस गया। भनक लगते ही लोग घरों से घरों से बाहर आ गए, अन्यथा जानी नुकसान हो सकता था।

डलहौजी की तहत बगढार पंचायत में भारी बारिश से से सकड़ै व खुईं में घरों में मलबा घुस आया। इसके अलावा भरमौर की छतराड़ी पंचायत में एक रिहायशी मकान पर चट्टानें आ गिरीं, जिससे दो परिवार बेघर हो गए। उधर, मौसम विभाग ने प्रदेश के मैदानी व मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में 10 अगस्त को अधिकांश स्थानों पर बारिश की संभावना जताई गई है। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में कई स्थानों पर बारिश होगी।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि 11 अगस्त को मैदानी व ऊंचाई वाले क्षेत्रों में कई स्थानों पर बारिश हो सकती है। मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में अधिकांश स्थानों पर बारिश के आसार हैं। 12 व 13 अगस्त को मैदानी व मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में अधिकांश स्थानों पर झमाझम बरसात होगी। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में कई स्थानों पर बारिश हो सकती है। 14 व 15 अगस्त को मैदानी व ऊंचाई वाले क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर बारिश की संभावना जताई है। मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में कई स्थानों पर बारिश का क्रम जारी रहेगा।

Share With:
Rate This Article