BJP नेता के एंबुलेंस का रास्‍ता राेकने से मरीज की मौत, पुलिस में केस दर्ज

फतेहाबाद

यहां भाजपा नेता और नगर परिषद प्रधान दर्शन नागपाल के खिलाफ एक एंबुलेंस को रोकने के कारण मामला दर्ज किया गया है। एंबुलेंस का रास्ता रा‍ेकने क कारण मरीज को समय पर इलाज नहीं मिल पाने से उसकी मौत हो गई। एंबुलेंस से नागपाल की गाड़ी में हल्‍की टक्‍कर लग गई थी। आराेप है कि इससे गुस्‍साए नागपाल ने एंबुलेंस का रास्‍ता आधे घंटे तक रोके रखा।

इस मामले में मरीज के परिजनों ने पुलिस को नगर परिषद प्रधान व दो अन्य लोगों के खिलाफ शिकायत दी है। इसके बाद पुलिस ने शिकायत दर्ज की। दूसरी ओर, नागपाल ने आरोप को निराधार बताया है। उनका कहना कि एंबुलेंस ने उनकी गाड़ी के पीछे टक्कर मार दी थी। हालांकि उसमें मरीज होने के कारण एंबुलेंस को रोका नहीं गया।

पुलिस को दी शिकायत में अरुण कुमार ने बताया कि शनिवार शाम को उसके चाचा नवीन कुमार की अचानक तबीयत खराब हो गई थी। इसके बाद वह उन्हें सिवाच अस्पताल लेकर पहुंचे। डाक्टर ने उनको देवीलाल मार्केट स्थित डॉ. बंसल के पास ले जाने के लिए कहा। इसके बाद वह चाचा नवीन को एंबुलेंस में लेकर डॉ. बंसल के अस्पताल की तरफ रवाना हो गए।

अरुण ने बताया कि लालबत्ती चौक पर नगर परिषद प्रधान दर्शन नागपाल की गाड़ी आगे आ गई और एंबुलेंस के साथ टच कर गई। हालांकि चालक ने एंबुलेंस को नहीं रोकी। आरोप है कि दर्शन नागपाल ने पीछा करते हुए जाट धर्मशाला के सामने बंसल अस्पताल के मोड़ पर अपनी गाड़ी एंबुलेंस के सामने अड़ा दी।

अरुण का आरोप है कि इस दौरान नागपाल ने एंबुलेंस की चाबी निकाल ली गई और धमकियां दी गई। नागपाल ने करीब आधे घंटे तक एंबुलेंस को रोके रखा। माफी मांगने व हाथ जोड़ने के बाद चाबी वापस दी गई। इसके बाद जब वह अस्पताल पहुंचे तो डाक्टर ने उसके चाचा को मृत घोषित कर दिया। साथ ही कहा कि 10 मिनट पहले आते तो इन्हें बचा लेते।
—–

Share With:
Rate This Article