जेल के वॉशरूम में महिला ने दुपट्टे से फंदा लगाकर दी जान

लुधियाना

चंडीगढ़-मोहाली समेत कई शहरों में 10 से ज्यादा एटीएम के जरिये फ्रॉड करने के मामले में आरोपी महिला ने शनिवार सुबह दुगरी थाने के हवालात के बाथरूम में दुपट्टे से फंदा लाकर जान दे दी। दुगरी फेस-2 निवासीरमनदीप (29) को पुलिस शुक्रवार रात थाने लेकर आई थी।

दरअसल महिला बाथरूम गई हुई थी, काफी देर तक वह बाहर नहीं आई। इसपर महिला कांस्टेबल ने शोर मचाया तो बाकी के मुलाजिमों ने दरवाजा तोड़ कर देखा कि दरवाजे के सहारे दुपट्टे से महिला का शव लटक रहा था। मुलाजिमों ने इसकी सूचना थाना प्रभारी और आला-अधिकारियों को दी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेजा, जहां शनिवार को मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में महिला के शव का पोस्टमार्टम हुआ।

जानकारी के मुताबिक दो दिन पहले थाना दुगरी ने एटीएम से पैसे निकलने के तीन मामला दर्ज किए थे। उक्त मामले में जांच के दौरान पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज मिली थी, जिसमें आरोपी महिला रमनदीप कौर एटीएम से पैसे निकालती दिखी। शुक्रवार रात 12 बजे रमनदीप कौर और उसके साथी मुकुल गर्ग को पुलिस हिरासत में लेकर थाने लाई थी। दोनों को पुलिस ने रात भर थाने में बैठाए रखा और पूछताछ की। शनिवार सुबह रमन ने महिला मुलाजिम अमनदीप कौर और राजवंत कौर से कहा कि उसे बाथरूम जाना है। वो उसे लेकर बाथरूम गई। जहां महिला ने फंदा लगा लिया।

लिव इन रिलेशन में रहती थी महिला

थाना प्रभारी दलबीर सिंह ने बताया कि रमन कौर और मुकुल गर्ग के साथ पिछले सात-आठ साल से लिव-इन-रिलेशनशिप में रहती थी। महिला का गिरोह काफी सक्रिय था। पुलिस ने दो दिन पहले ही मामला दर्ज किया था और इसी मामले में रमनदीप कौर को हिरासत में लिया गया था। दोनों आरोपियों के खिलाफ पंजाब के कई थानों में एटीएम से पैसे निकालने के कई मामले दर्ज हैं। आरोपी एटीएम से फ्रॉड कर लोगों के पैसे निकालते थे। उसके खिलाफ चंडीगढ़, मोहाली व अन्य जगहों पर करीब 10 मामले दर्ज हैं।

महिला की आत्महत्या कारण पता नहीं चल पाया, लेकिन उसे दुगरी इलाके में हुई एटीएम की वारदात के मामले में महिला को पूछताछ के लिए उठाया गया था। इस मामले अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। एफआइआर में अभी उसका नाम जोड़ा जाना था।

Share With:
Rate This Article