भारत युद्ध नहीं चाहता तो डोकलाम से पीछे हटा ले सेना: चीन

चीनी रक्षा मंत्रालय की ओर से भारत को सीधी धमकी दी गई है. मंत्रालय के एक अधिकारी ने बयान जारी कर कहा है कि भारत डोकलाम से सेना हटाए नहीं तो जंग के लिए तैयार रहे.

चीन के रक्षा मंत्रालय के अधिकारी, सीनियर कर्नल जो बो ने भारत को धमकी देते हुए कहा, ‘भारत अगर युद्ध नहीं चाहता है तो चीन के अधिकार वाले इलाके से सेना को पीछे हटा ले. ये धमकी ऐसे वक्त में आई है जब भारत और चीन की सेनाएं विवादित डोकलाम इलाके में डटी हुईं हैं. यह विवाद उस वक्त शुरू हुआ था जब चीन की सेना इंडिया-भूटान-चीन के ट्राई जंक्शन पर रोड बनाने के लिए आगे बढ़ी और भारत ने इसका विरोध करते हुए इसे रुकवा दिया.

इससे पहले बुधवार को भी चीन ने भारत पर आरोप लगाया था कि भारत डोकलाम क्षेत्र में अपनी सेना को भेजने को लेकर कई तरह के बहाने गढ़ रहा है. चीन ने यह भी कहा था कि इस मुद्दे पर वह सहनशीलता का परिचय दे चुका है.

बता दें कि भारत और चीन 3500 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करते हैं. इस साल जून में भारतीय सेना ने भूटान के डोकलाम क्षेत्र में चीन का सड़क निर्माण रोका था, इसके बाद से ही दोनों देशों के बीच इस क्षेत्र को लेकर तनाव है.

चीन भारतीय सेना पर घुसपैठ का आरोप लगा रहा है वहीं भारत का कहना है कि वह एक छोटे देश यानी भूटान की सहायता कर रहा है. चीनी मीडिया लगातार भारत को युद्ध की धमकी दे रहा है. वहीं भारत भी अपने पक्ष पर बना हुआ है. चीन यदि डोकलाम क्षेत्र में सड़क निर्माण करता है तो भारत का चिकन नेक इलाका चीन की पहुंच में आ जाएगा और भारत की सुरक्षा पर बड़ा खतरा हो जाएगा.

चीन के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी किया है कि भारतीय सेना अब भी चीन के क्षेत्र में है और चीन ने इस मामले में पूरी सहनशीलता दिखाई है. चीन लगातार भारत से अपनी सेना वापस बुलाने के लिए कह रहा है. इस बयान में लिखा है, “लेकिन भारत ने इस संबंध में कोई कदम नहीं हुए हैं. वह तरह-तरह के बहाने गढ़ रहा है जिनका असल में कोई महत्व नहीं है.”

Share With:
Rate This Article