हरियाणा के 12वीं के छात्र को नौकरी देने से गूगल का इंकार, परिवारवालों के फोन स्विच ऑफ

चंड़ीगढ़ में रहने वाला 16 साल का हर्षित शर्मा ने दावा किया था कि उसे गूगल द्वारा आइकन डिजाइनिंग प्रोग्राम के लिए चयनित किया गया है। चंडीगढ़ के पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट द्वारा एक स्टेटमेंट में कहा गया था कि चंडीगढ़ के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले हर्षित का गूगल ने एक खास प्रोग्राम के लिए चयन किया है। उसे एक साल के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी।

एक साल के ट्रेमिंग प्रोग्राम के तहत हर्षित को स्टाइपन के तौर पर 4 लाख रुपए दिए जाएंगे और एक साल की ट्रेनिंग पूरी होने पर उसे सालाना 1.44 करोड़ रुपए का पैकेज दिया जाएगा।

इसके बाद गूगल का कहना है कि उसने ऐसे किसी भी प्रोग्राम के लिए उसने किसी का चयन नहीं किया है। फिलहाल इस बात की कोई पुख्ता जानकारी नहीं है कि क्या गूगल ने यच में हर्षित का इस कोर्स के लिए चयन किया है कि नहीं।

 

Share With:
Rate This Article