बाढ़ प्रभावित पूर्वोत्तर राज्यों के लिए PM मोदी ने की 2,350 करोड़ रुपये पैकज घोषणा की

पीएम मोदी ने आज पूर्वोत्तर भारत के बाढ़ग्रस्त राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग असम के गुवाहाटी में एक उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की। बैठक में पीएम मोदी ने आपदाग्रस्त राज्यों को जरुरी सामान उपलब्ध कराने समेत राहत और बचाव कार्य में तेजी लाने को लेकर चर्चा की। बैठक के बाद असम के वित्त मंत्री हिमंतबिस्व सरमा जानकारी दी कि पीएम मोदी ने बाढ़ग्रस्त इलाकों के लिए 2,350 करोड़ रुपए का पैकेज जारी करने का वादा किया है।
समीक्षा बैठक में पीएम मोदी के साथ केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह भी मौजूद रहे। समीक्षा बैठक में असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनेवाल, अरुणाचल प्रदेश के सीएम पेमा खांडू, मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह समेत नागालैंड के सीएम मौजूद थे। असम में इस साल बाढ़ से 80 से अधिक लोगों की मौत हो गई। हाल ही में केंन्द्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के एक दल ने असम के बाढ़ प्रभावित ज़िलों का दौरा करके स्थिति का जायजा लिया।

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने असम दौरे से पहले कल बाढ़ में मारे गए लोगों के लिए मुआवजे का ऐलान किया था, जिसके तहत असम और राजस्थान में बाढ़ में मरने वाले लोगों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए का मुआवजा और बाढ़ में गंभीर रूप से घायल लोगों के लिए 50-50 हजार दिए जाने की घोषणा की थी।

देश के ज्‍यादातर राज्‍य इस समय भारी बारिश के कारण बाढ़ की चपेट में हैं। गुजरात से लेकर असम तक पानी कहर बरपा रहा है। गुजरात में सोमवार तक बाढ़ के कारण मरने वालों की संख्‍या 186 के पार पहुंच गई थी। वहीं असम में भी बाढ़ से जानमाल का काफी नुकसान हुआ है। असम में बाढ़ से हालात बेहद बिगड़ गए हैं। अब तक 61 लोगों की मौत हो गई है और 10 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं।

ॉअसम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की रिपोर्ट के अनुसार मोरीगांव जिले में एक व्यक्ति की मौत हो जाने से इस साल बाढ़ से होने वाली घटनाओं में जान गंवाने वालों की संख्या 60 तक पहुंच गई है। बाढ़ से प्रभावित होने के बाद सिर्फ गुवाहाटी में ही 8 लोगों की मौत हुई है। एएसडीएमए के मुताबिक, फिलहाल राज्य के नलबाड़ी, बारपेटा, बोंगईगांव, चिरांग, धेमाजी, लखीमपुर, बिस्वनाथ, दरांग, कोकराझार, धुबरी, दक्षिण सल्मारा, ग्वालपाड़ा, मोरीगांव, नगांव, कार्बी आंगलांग, गोलाघाट, जोरहाट, माजुली, शिवसागर, करीमगंज और कछार जिलों में 10 लाख से अधिक लोग प्रभावित हैं।

Share With:
Rate This Article