दर्दनाक हादसा: खाई में कार गिरने से लगी आग, चालक की मौत

हिमाचल के ‌मंडी जिले के करसोग-छतरी सड़क मार्ग पर एक नैनो कार खाई में गिरने के बाद आग का गोला बन गई। हादसे में चालक की जिंदा जलकर मौत हो गई। रविवार रात को अस्सी मीटर गहरी खाई में गिरी कार से आग की लपटें देख आस पास के ग्रामीण बचाव कार्य को भागे।
लेकिन आग की प्रचंड लपटें बुझाई नहीं जा सकीं। मृतक की पहचान दूनीचंद उम्र 31 साल पुत्र मंगतराम गांव सलोग डाकघर कटवाहची उप तहसील पांगणा के रूप मे हुई है। कार में आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है।

पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक चालक कार लेकर छतरी से करसोग की तरफ आ रहा था। नैहरा के पास पहुंचते ही चालक का कार से नियंत्रण खो गया। इसी दौरान कार सड़क की एक तरफ खाई में जा गिरी। ढलान से तेज गति में नीचे गिरते ही कार में आग लग गई।

कार के भीतर चालक चिल्ला रहा था। अंधेरे में जोरदार आवाज और आग की लपटें देख आस पास के कुछ ग्रामीण मौके की तरफ दौड़े। पुलिस को भी सूचित किया गया। लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद कार के चालक को बचाया नहीं जा सका।

थाना प्रभारी जंजैहली गोपाल सिंह की अगुवाई में पुलिस दल ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का जायजा लिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

खाई में गिरने के बाद कार में आग से झुलसे शव की शिनाख्त मृतक के भाई ने की। सबसे पहले कार के नंबर के माध्यम से उसके मालिक की पहचान की गई जिसके बाद मृतक की पहचान का भी पता चल गया। दर्दनाक हादसा पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है।

पुलिस का तर्क है कि कार करीब 80 मीटर खाई में गिरी। हो सकता है कि कार की वायरिंग कहीं से शार्ट हो। गिरते वक्त शार्ट सर्किट हुआ और कार के फ्यूल टैंक ने आग पकड़ ली हो। पुलिस की प्रारंभिक जांच में यह अंदेशा है लेकिन इसकी पुष्टि होना अभी बाकी है।

Share With:
Rate This Article