गुजरात में बाढ़ पीड़ितों के बीच पहुंची स्मृति ईरानी, नाव में बैठकर स्थिति का जायजा लिया

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सोमवार को गुजरात में बाढ़ पीड़ितों के बीच पहुंची. इस दौरान उन्होंने न सिर्फ बाढ़ प्रभावित लोगों से बातचीत कर उनका हाल जाना, बल्कि राहत-बचाव का भी जायजा लिया.

गुजरात में बाढ़ से सबसे ज्यादा बनासकांठा प्रभावित हुआ है. यहां अब तक 60 से ज्यादा लोगों की मौत की खबर आई है. जबकि सैकड़ों की तादाद में लोग बेघर हो गए हैं. जिसके बाद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बनासकांठा के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पहुंची. इस दौरान वो नाव में बैठकर बाढ़ के कहर का जायजा लेने पहुंची.

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि अब तक बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए 90 राहत कैंप बनाए जा चुके हैं. कुल 60 हजार लोगों तक प्रशासन ने मदद पहुंचाई है. उन्होंने बताया 20 लाख से ज्यादा फूड पैकेट बांटे जा चुके हैं.

एक दिन के दौरे पर गुजरात पहुंची स्मृति ईरानी ने यहां खारा गांव में हालात का जायजा लिया. ये वो गांव है, जो पिछले सात दिनों से पूरे तरीके आम जनजीवन से कट गया था. बनास नदी में तेज बहाव और जलस्तर बढ़ जाने से खारा को आसपास के गांवों से जोड़ने वाला हाइवे पानी में डूब गया था.

 स्मृति ईरानी एनडीआरएफ की टीम के साथ गांव पहुंचीं और नाव में बैठकर बाढ़ की तबाही का आंकलन किया. स्थानीय लोगों के मुताबिक, खारा गांव से अब तक 10 लोगों के शव प्राप्त किए जा चुके हैं.

हालांकि इलाके में अब बारिश रुक गई है. जिसके बाद अब पुनर्वास और राहत पहुंचाने का काम किया जा रहा है. केंद्रीय मंत्री ने गुजरात सरकार की तारीफ की. साथ ही उन्होंने एनडीआरएफ और दूसरी रेस्क्यू टीम के काम की भी सराहना की.

Share With:
Rate This Article