US ने दखल दिया तो कश्मीर की हालत सीरिया और इराक जैसी हो जाएगी : CM महबूबा

श्रीनगर

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को कहा कि घाटी में यदि अमेरिका दखल देगा तो यहां की हालत सीरिया जैसी हो जाएगी. महबूबा का यह बयान ऐसे समय आया है जब राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कश्मीर विवाद का शांतिपूर्ण हल निकालने के लिए अमेरिका और चीन की मध्यस्थता स्वीकारने का सुझाव दिया है. महबूबा ने कहा कि कश्मीर विवाद को सुलझाने के लिए बाहरी शक्तियों की जरूरत नहीं है हम मिलकर समाधान सुलझा लेंगे.

 महबूबा ने कहा, ‘कश्मीर विवाद सुलझाने में यदि अमेरिका दखल देता है तो राज्य की हालत इराक और सीरिया जैसी हो जाएगी, कश्मीर समस्या सुलझाने में बाहरी देशों के हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है. हम मिलकर कश्मीर की समस्या सुलझाएंगे.’ महबूबा ने कहा कि कश्मीर समस्या का समाधान केवल भारत और पाकिस्तान की आपसी बातचीत से ही हो सकता है. मुख्यमंत्री ने कहा कि फारूक से पूछा कि क्या वह जानते हैं कि सीरिया और अफगानिस्तान में क्या हुआ?

महबूबा ने कहा, ‘जैसा कि वाजपेयी जी लाहौर घोषणापत्र में कह चुके हैं कि कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए भारत और पाकिस्तान को बातचीत करनी चाहिए.’

गौरतलब है कि फारूक अब्दुल्ला ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए अमेरिका और चीन की मध्यस्थता स्वीकार करने का सुझाव दिया था. उनके इस बयान की सियासी गलियारों में काफी आलोचना हुई. फारूक को इस मसले पर उनके सहयोगी कांग्रेस का भी साथ नहीं मिला. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि ‘कश्मीर इज इंडिया एंड इंडिया इज कश्मीर.’ राहुल ने कहा कि कश्मीर मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष की जरूरत नहीं है.

Share With:
Rate This Article