हरियाणा सरकार ने पूरे किए 1000 दिन, सीएम मनोहर लाल ने पेश किया रिपोर्ट कार्ड

चंडीगढ़

हरियाणा में पहली बार पूर्ण बहुमत से सत्ता में भाई भाजपा की मनोहर सरकार ने शुक्रवार को 1000 दिन पूरे कर लिए. इन 1000 दिनों के दरमियान मनोहर सरकार ने कई विकास कार्यों की आधारशिला रखी तो कई मुद्दों पर सरकार को बैकफुट पर भी जाना पड़ा.

बता दें कि 26 अक्टूबर 2014 को पहली बार हरियाणा में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी थी. करनाल से पहली बार विधायक चुनकर असेंबली पहुंचे मनोहर लाल भाजपा विधायक दल के नेता चुने गए और सीएम की कुर्सी पर विराजमान हुए थे.

शुक्रवार को सीएम ने चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके 1000 दिन तक की राज्य सरकार की उपलब्धियां गिनाईं. इस कार्यक्रम में प्रदेश के वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु, ओ पी धनखड़, कृष्ण लाल पंवार, अनिल विज, कविता जैन समेत पार्टी के कई विधायक मौजूद रहे.

ये हैं सीएम की प्रेस कॉन्फ्रेंस के प्रमुख अंश-

– भाजपा ने भय, भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दी है.
-तहसील में बिना रिशवत दिए काम करने का काम किया है.
-ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलसी बनाई, हमें कई लोगों ने डराया कि इस में दिक्कत हो जाएगी लेकिन हम ने इसे लागू किया और सब जगह यह सराही जा रही है.
-नौकरियों में पारदर्शिता लाई है. किसी तरह की सिफारिश नहीं मानी गई और सिर्फ मैरिट के आधार पर नौकरियां दी गईं.
-पिछली सरकार की तरह सीएलयू आदि के काम में हम पारदर्शिता लाए हैं. जिससे यह काम आसान हो गया.
-हमने पिछली सरकार के गड्ढे भरने का काम किया है. एसवाईएल का काम लेट होने का कारण पिछली सरकार है.
-12000 जेबीटी टीचर्स को हमने कानूनी लड़ाई लड़ के नियुक्ति दी.
-पिछली सरकार के टाइम पावर डिपार्टमेंट पर 28000 हजार करोड़ का बोझ था, उस को हम ने भरने का काम किया है.
-आने वाली 15 अगस्त को 1000 गांवों को 24 घण्टे बिजली मिलेगी. ग्रामीण कह रहे हैं कि हमारे गांवों को भी जगमग गांव योजना में शामिल करें. हम सारे बिल भरेंगे और बकाया भी भरेंगे.
-दक्षिणी हरियाणा में हम टेल तक पानी पहुचाएंगे. स्वामीनाथन आयोग को पिछली सरकार लागू नहीं करा पाई थी. हम ने आते ही 10000 से 12000 हजार मुआवजा प्रति एकड़ किया.
-हमारी सरकार ने खाद की मांग पूरी की. अब कोई लाइन नहीं लगती और आने वाले 6 महीने तक भी कमी नहीं आएगी.
-पिछली सरकार ने 8वीं तक के बच्चों का पेपर लेना बंद कर दिया था तो स्टूडेंट्स पिछड़ रहे थे. क्योंकि कोई टारगेट ही नहीं होगा स्टूडेंट्स के पास तो वो क्यों आगे बढ़ेंगे. हम ने आते ही मंथली टेस्ट लेना शुरू किया. जिससे पढ़ाई का स्तर सुधरने लगा है. अभी हरियाणा में 53 महाविद्यालय और खोले जाएंगे.
-पहले कौशल विकास के कार्यक्रम सिर्फ सब्सिडी तक सीमित थे. हम बेरोजगार बच्चों को 100 घण्टे काम दे रहे हैं. इस में बीए पास को 7500 और मास्टर पास को 9000 दे रहे हैं. कौशल विकास स्कीम के तहत अगले साल सवा लाख को रोजगार देने का लक्ष्य है.
-हरियाणा में इतना रोजगार देंगे जितना पिछली सरकार 10 सालों में भी नहीं दे पाई थी.
-दिल्ली से कटरा तक एक्सप्रेस बनेगा, जिससे तीन प्रदेशों का विकास होगा हरियाणा, पंजाब और जम्मू कश्मीर को होगा फायदा.
-ऑनलाइन राशन वितरण शुरू किया जा चुका है. हरियाणा ही सिर्फ ऐसा प्रदेश है जो कैरोसिन मुक्त प्रदेश हो गया है.

Share With:
Rate This Article