स्कूल जा रही छात्रा का अपहरण कर किया गैंगरेप, मददगार ने भी बनाया शिकार

नवांशहर

स्कूल जा रही दसवीं की छात्रा का कार सवार दो युवकों ने अपहरण किया और उसे कार में बैठाकर एक एनआरआइ की कोठी पर ले गए. वहां दोनों युवकों ने उसे हवस का शिकार बनाया. दुष्कर्म के बाद युवक उसे एक स्थान पर छोड़कर चले गए. वहां छात्रा ने किसी मोटरसाइकिल सवार परिचित से लिफ्ट मांगी. वह भी उसे सुनसान स्थान पर ले गया और हवस का शिकार बनाया. छात्रा ने अब मामले की शिकायत थाना काठगढ़ पुलिस को दी है.

14 वर्षीय छात्रा के मुताबिक वह शनिवार सुबह पैदल स्कूल जा रही थी. इसी दौरान सफेद रंग की आल्टो कार आकर उसके सामने रुकी. कार में दो युवक सवार थे. एक युवक कार से उतरा और उसकी बाजू पकड़ दी. उसने विरोध जताया तो उसने छात्रा का मुंह बंद कर दिया और कार की पिछली सीट पर धकेल दिया.

युवक ने उसे धमकियां दीं कि अगर उसने शोर मचाया तो वह उसे जान से मार देगा. इसके बाद वह उसे नवांशहर के करिआम रोड स्थित एक एआरआइ की बंद पड़ी कोठी में ले गए. वहां दोनों युवकों ने बारी-बारी उससे सामूहिक दुष्कर्म किया. युवकों की पहचान गांव धरमकोट निवासी गुरदीप सिंह उर्फ दीपी व गांव करिआम निवासी सुखइंद्र उर्फ सनी के रूप में हुई है.

युवकों ने उसे धमकी दी कि अगर उसने यह बात किसी को बताई तो वह उसके परिवार को जान से मार देंगे. धमकी देने के बाद युवक उसे कंगना पुल के पास छोडकर नवांशहर की तरफ वापस चले गए.

छात्रा के मुताबिक वह पुल के पास खड़ी थी. इसी दौरान उसका जानकारी गांव मजारा जट्टां निवासी बलविंदर सिंह उर्फ बिंदा उसके पास आया. वह मोटरसाकिल पर सवार था. उसने कहा कि वह उसे घर छोड़ देगा. इस पर वह उसकी मोटरसाइकिल पर बैठ गई, लेकिन वह उसे घर छोड़ने के बाद एक सुनसान स्थान पर उसे ले गया और दुष्कर्म किया. उसने भी उसे जान से मारने की धमकी देकर छोड़ दिया.

इसके बाद छात्रा जैसे-तैसे घर पहुंचे. परिवार वालों ने जब उसे गुमसुम देखा तो पूछताछ की तो उसने सारी बात उन्हें बता दी. थाना काठगढ़ पुलिस ने छात्रा के बयानों का आधार पर गुरदीप सिंह, सुखइंदर सिंह व बलविंदर सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर दिया है. एसएचओ जागर सिंह ने बताया कि तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कल लिया गया है. तीनों युवक डीजे का काम करते हैं.

Share With:
Rate This Article