बीमा कंपनी और इनकम टैक्स के नाम पर ठगों ने लगाया 21 लाख का चूना

अंबाला, मुलाना

कस्बा निवासी श्याम मुरारी नामक व्यक्ति को ठगों के एक गिरोह ने सालभर मे बीमा और इनकम टैक्स के नाम पर लगभग 21 लाख रुपये का चूना लगा दिया. पीड़ित को ठगी का तब पता लगा, जब ठगों ने उसको 43 लाख 12 हजार रुपये का एक नकली डिमांड ड्राफ्ट व्हाट्सअप किया. उसे नकली होने की पुष्टि बैंक ने की. इससे पीड़ित के पांव तले जमीन खिसक गई और उसने मामले की शिकायत एसपी से की. उनके निर्देश पर मुलाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है.

श्याम मुरारी ने मई, 2016 में अपनी पत्नी के नाम एक्सा इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदी थी. उसके बाद दिसंबर, 2016 से श्याम मुरारी के पास फर्जी एजेटों के फोन आने शुरू हो गए. उन्होंने बीमा कंपनी के नाम पर कभी छह तो कभी 10 हजार रुपये श्याम से लेने शुरू कर दिए. मुरारी को एक फायदेमंद पॉलिसी का लालच दिया गया था. उससे श्याम मुरारी ने बीमा कंपनी के नाम पर ठगों को आठ बार में तीन लाख 45 हजार रुपये के चेक और आरटीजीएस से राशि दे दी.

ठगी का सिलसिला इसके बाद भी जारी रहा. ठगों ने आयकर विभाग का अधिकारी बनकर बीमे के लिए ली जा रही राशि श्याम मुरारी के खाते डालने के लिए छह लाख 64 हजार रुपये और ठग लिए. जून में फिर आयकर विभाग का अधिकारी बनकर चार लाख 99 हजार, 243 रुपये इनकम टैक्स चार्जेस के नाम पर आरटीजीएस से पैसे ले लिए.

अंत में फिर इंश्योरेंस पॉलिसी का सारा पैसा देने के नाम पर मुरारी से पांच लाख 57 हजार रुपये फिर से ठग लिए गए. इस दौरान ठगों ने 43 लाख 12 हजार रुपये के डिमांड ड्राफ्ट का फोटो खींचकर कापी व्हाट्सअप कर दिया, जिसे लेकर श्याम मुरारी बैंक में गया, लेकिन वहां बैंक कर्मचारियों ने उस डिमांड ड्राफ्ट को नकली बता दिया। इसके बाद श्याम मुरारी को अपने साथ चल रही ठगी का पता चला, लेकिन तब तक उसको 21 लाख का चूना लग चुका था.

एसपी के निर्देश पर आलोक ओबेरॉय, अनुराधा, विकास खुराना और राजीव मित्तल के खिलाफ धारा 406, 420 और 120बी के तहत मुलाना पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की धरपकड़ शुरू कर दी है.

Share With:
Rate This Article