हिमाचल कैबिनेट का बड़ा फैसला, राज्य के विभिन्न विभागों में भरे जाएंगे 3000 पद

शिमला

प्रदेश सरकार ने विधानसभा चुनाव से पहले सरकारी नौकरियों का पिटारा खोला दिया है. विभिन्न विभागों में लगभग तीन हजार रिक्त पदों को भरा जाएगा. मंत्रिमंडल की सोमवार को हुई बैठक में सरकार स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में दो हजार पैरामेडिकल स्टाफ पद, पशु पालन विभाग में दैनिक वेतन भोगी आधार पर पशु पालन परिचरों के ढाई सौ और पशु पालन विभाग में ही अनुबंध के आधार पर दो सौ फार्मासिस्ट नियुक्त करने के प्रस्ताव पर मुहर लग गई है.

इसके अलावा अग्निशमन, वन एवं पर्यावरण, अभियोजन और शिक्षा विभाग में लगभग डेढ़ सौ नियुक्तियां की जाएंगी. सेब बागवानों को राहत देने के लिए सरकार मंडी मध्यस्थता योजना के तहत सेब का सरकारी एजेंसियों में खरीद मूल्य बीते वर्ष के मुकाबले 25 पैसे बढ़ाकर 6.75 रुपये कर दिया है. मंडी के फारेस्ट गार्ड होशियार सिंह की मौत के बाद उसकी दादी हिरदी देवी को विशेष मामले के रूप में जीवन पर्यन्त पोते का वेतन मिलेगा.

सरकार ने 13 डिग्री कालेजों में शिक्षा को नए विषय के रूप में आरंभ करने का फैसला लिया है. राष्ट्रपति पद के लिए मतदान के बाद दोपहर 2 बजे मंत्रिमंडल की बैठक शुरू हुई. बैठक में लगभग 112 एजेंडा प्रस्ताव शामिल थे. शाम तक चली मैराथन कैबिनेट बैठक में सरकार का फोकस कई विभागों के रिक्त पदों को भरने का निर्णय लिया है.

सरकार के अधिकांश फैसले नए पदों के सृजन और मौजूदा रिक्त पदों को चुनाव से पहले भरने को लेकर रहे. कालेजों में शिक्षा को नए विषय के साथ पर्यावरण विषय को अधिक कालेजों में शुरू करने का निर्णय भी लिया गया. बैठक में निजी सहभागिता से दो नई जलविद्युत परियोजनाएं शुरू करने को मंजूरी नहीं मिली.

Share With:
Rate This Article